Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

दूसरे राज्य यूपी के प्रवासी मजदूरों को वापस लाना चाहते हैं तो उन्हें लेनी होगी मंजूरी: सीएम योगी

सीएम योगी ने ये बातें RSS से जुड़ी पत्रिकाओं पाञ्चजन्य और ऑर्गनाइज से हुई बातचीत में कहीं
अपडेटेड May 25, 2020 पर 16:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने 24 मई को कहा है कि कोई भी राज्य जो यूपी के प्रवासी मजदूरों को अपने यहां वापस लाना चाहता है उसको यूपी सरकार से मंजूरी लेनी होगी। इन राज्यों को मजदूरों के सामाजिक, आर्थिक और वैधानिक अधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी। दूसरे राज्यों से उत्तर प्रदेश पहुंचे प्रवासी मजदूरों से मिले फीड बैक के आधार पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रवासी मजदूरों की सुरक्षा उनकी प्राथमिकता सूचि में हैं।


सीएम योगी इस बात को लेकर दुखी हैं कि  कोरोना संकट काल में दूसरे राज्यों ने यूपी के प्रवासी मजदूरों का सही ढंग से ख्याल नहीं रखा और उनकी उपेक्षा की। उन्होंने कहा कि ये श्रमिक हमारे सबसे बड़े संशाधन हैं। हम इन्हें अपने राज्य में ही रोजगार देंगें। राज्य सरकार इनको यूपी में ही रोजगार देने के मुद्दे पर राय देने के लिए एक कमीशन बनाने जा रही है।


योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये श्रमिक हमारे अपने हैं। अगर दूसरे राज्य इनको वापस ले जाना चाहते हैं तो उनको यूपी सरकार से इसकी अनुमति लेनी होगी। योगी ने ये बातें आरएसएस से जुड़ी पत्रिकाओं पाञ्चजन्य और ऑर्गनाइज से हुई बातचीत में कहीं।


इस बातचीत में उन्होंने आगे कहा कि राज्य के सभी प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण किया जा रहा है और उनके कौशल की जांच की जा रही है। अगर कोई दूसरा राज्य इनको अपने यहां ले जाना चाहता है तो उसको इन मजदूरों के सामाजिक, आर्थिक, वैधानिक अधिकारों की सुरक्षा पक्की करनी होगी।


प्रस्तावित कमीशन पर सीएम योगी ने कहा कि ये प्रवासी मजदूरों से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर अपनी राय देगा। ये कमीशन ये बताएगा कि किस तरह से हम श्रमिकों के शोषण को रोककर उनके सामाजिक, आर्थिक अधिकारों की सुरक्षित किया जा सकता है। कमीशन श्रमिकों के लिए बीमा, सामाजिक सुरक्षा, उनके पुनवर्सन, उनके लिए बेरोजगारी भत्ता जैसे मुद्दों पर विचार करेगा और उन पर अपनी राय देगा।


सीएम योगी ने कहा कि अभी तक 23 लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूर वापस आ चुके हैं। मुंबई और दिल्ली से लौटे मजदूरों की बड़ी संख्या कोरोना पॉजिटिव पाई गई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।