Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

इंडिया के पास होगा अपना बैड बैंक, जानिए क्या होगा इसका काम

SBI के चीफ रजनीश कुमार ने बताया कि भारतीय बैंक NPA की मुश्किल से निपटने के लिए बैड बैंक बना सकते हैं
अपडेटेड May 08, 2020 पर 10:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय बैंक एक बैड बैंक बनाने की शुरुआती प्रक्रिया में हैं। बैड बैंक का काम बैड लोन से निपटना होगा। देश के सबसे बड़े बैंक SBI के चीफ ने CNBC-TV 18 के साथ बातचीत में यह बताया है।


इंडियन बैंक एसोसिएशन का जिक्र करते हुए SBI के CMD रजनीश कुमार ने बताया, "IBA लेवल पर यह शुरुआती विचार हैं।" उन्होंने कहा, "हमारा मानना है कि यह सही वक्त है जब बैड बैंक की तरह कोई स्ट्रक्चर खड़ा किया जा सकता है। बैड बैंक का आइडिया काम कर सकता है क्योंकि बैंकों का मौजूदा NPA और प्रोविजंस बहुत ज्यादा है।"


रजनीश कुमार का यह बयान ऐसे समय में आया है जब इकोनॉमी पर कोरोनावायरस का संकट है। आशंका है कि कोरोनावायरस का संक्रमण खत्म होते-होते बैंकों का NPA बहुत ज्यादा बढ़ जाएगा। हालांकि लॉकडाउन में बैंकों को NPA से राहत देते हुए RBI ने नियमों में कुछ ढील जरूर दी है। इसके तहत RBI ने तीन महीने का मोरटोरियम और वर्किंग कैपिटल फाइनेंसिंग के नियमों में बदलाव किया है।


भारत में पॉलिसी बनाने वालों के बीच बैड बैंक बनाने के लेकर लंबे समय से बातचीत चलती आ रही है। कुमार ने कहा कि बैड बैंक का आइडिया तीन साल पहले तक मुमकिन नहीं था। उन्होंने कहा कि पहले प्रोविजंस अपर्याप्त था। आज पर्याप्त प्रोविजनिंग की जाती है। और नेट बुक वैल्यू ग्रॉस NPA का बमुश्किल 10-15 फीसदी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।