Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Indiabulls Housing Finance 9% गिरा, जानिए क्या है कंपनी की मुश्किल?

कंपनी और इसके प्रमोटर्स के खिलाफ हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है
अपडेटेड Sep 06, 2019 पर 13:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Indiabulls Housing Finance के शेयरों का प्रदर्शन निफ्टी पर सबसे खराब रहा। कंपनी के शेयर 9.6 फीसदी गिरकर 405 रुपए पर आ गए हैं। यह कंपनी का पिछले 52 हफ्तों का सबसे निचला लेवल है।


इससे पहले खबर आई थी कि कंपनी और इसके प्रमोटर्स के खिलाफ हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है। इन पर कंपनी के फंड का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया है।


यह याचिका दिल्ली हाई कोर्ट के स्पेशल इनवेस्टिगेशन टीम (SIT) के सामने पेश की गई है। सुप्रीम कोर्ट की वकील कामिनी जायसवाल ने CNBC-TV18 को बताया कि RBI, SEBI, SFIO (Serious fraud investigation office), Roc (Registar of companies) जैसे रेगुलेटर्स पर भी कोई एक्शन ना लेने का आरोप लगाया है।   


याचिका में यह मांग की गई है कि कॉरपोरेट मिनिस्ट्री SFIO को कंपनी में हुई वित्तीय गड़बड़ियों की जांच का आदेश दे।


BSE को PIL के बारे में दी गई जानकरियों में कंपनी ने बताया है कि दिल्ली हाई कोर्ट की वेबसाइट के मुताबिक यह याचिका हाई कोर्ट में नहीं दायर की गई है। हालांकि कंपनी को नुकसान पहुंचाने के लिए इसे सोशल मीडिया पर लीक कर दिया गया है।


कंपनी ने कहा कि याचिकाकर्ता किसी रेगुलेटर के पास ना जाकर सीधा याचिका दायर करता है। इसके पीछे उसकी मंशा कंपनी को ब्लैकमेल करना है। कंपनी के लिए मौजूदा वक्त काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि कंपनी लक्ष्मी विलास बैंक के साथ विलय की प्रक्रिया में है।


कंपनी ने अपनी तरफ से सफाई देते हुए कहा कि विलय प्रक्रिया के तहत पिछले तीन महीने में कंपनी की हर तरह से जांच हुई है। लिहाजा वह अब याचिकाकर्ता से कोर्ट में लड़ने के लिए तैयार हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।