Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

IndiGo ट्रेनिंग ले रहे पायलटों के वेतन में 50% की कटौती करेगा

ट्रेनिंग पर चल रहे ज्यादातर पायलट जेट एयरवेज के हैं जिसके बंद होने के बाद वे इंडिगो में आए थे
अपडेटेड May 14, 2020 पर 18:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इंडिगो ने उन पायलटों के कॉन्ट्रैक्ट में बदलाव किया है जो फिलहाल ट्रेनिंग पर हैं। एयरलाइन कंपनी ने कॉन्ट्रैक्ट में जो नई शर्तें जोड़ी हैं उसके मुताबिक रोस्टर (काम करने का शिड्यूल) में बदलाव के साथ सैलरी में भी 50 फीसदी तक कटौती हो सकती है।


सूत्रों ने मनीकंट्रोल को बताया कि ज्यादातर पायलट जेट एयरवेज से आए हैं। पिछले साल जब अप्रैल में जेट एयरवेज ने कामकाज बंद कर दिया था तो उन्होंने देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी इंडिगो में शामिल हो गए थे।


ये नॉन-रिलीज्ड पायलट हैं। उनके साथ 50 प्रतिशत वेतन कटौती के साथ नया अनुबंध किया  गया  है जो मार्च 2021 तक वैध है। ऐसा इंडस्ट्री के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा। जिन पायलटों का प्रशिक्षण हो रहा होता है उन्हें नॉन-रिलीज्ड पायलट कहते हैं।


नए अनुबंध के अनुसार, ये पायलट दो-सप्ताह- काम पर और दो-सप्ताह-काम नहीं शेड्यूल पर होंगे। आम तौर पर एक पायलट को पूरे महीने के लिए उपलब्ध होने के लिए कहा जाता है और अवकाश रोस्टरिंग पर निर्भर करता है। उड़ान के घंटे कम होने से पायलट को मिलने वाले भत्तों पर प्रभाव पड़ता है।


मनीकंट्रोल ने इंडिगो को प्रतिक्रिया के लिए पत्र लिखा है और जवाब मिलते ही इस पर और अपडेट देंगे। इंडिगो के सीईओ रोनोजॉय दत्ता ने कर्मचारियों को मेल लिख कर कहा कि लीव विदाउट पे कर्मचारी के ग्रुप के आधार पर 1.5 से 5 दिनों तक होगा। ए स्तर के कर्मचारी, जो हमारे वर्कफोर्स का प्रमुख हिस्सा हैं, वे प्रभावित नहीं होंगे। कंपनी ने मई से वेतन कटौती की घोषणा की थी जिसे अप्रैल में एक घोषणा करते हुए वापस ले लिया था।


इससे पहले अप्रैल से कंपनी ने अपने वेतन कटौती की घोषणा को मार्च में सरकार द्वारा कंपनियों को लॉकडाउन के दौरान वेतन में कटौती नहीं करने की अपील के बाद वापस ले लिया था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।