Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

IndiGo प्लेन में गर्म खाना सर्व नहीं करेगी, जानिए क्यों?

किसी भी एयरलाइन कंपनी की सबसे ज्यादा खर्च फ्यूल पर होता है। एक हिसाब से देखें तो कुल खर्च का करीब 35-40 फीसदी फ्यूल पर जाता है
अपडेटेड Nov 08, 2019 पर 15:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश की सबसे बड़ुी एयरलाइन कंपनी IndiGo अपने फूड मेनू में गर्म खाना का विकल्प नहीं रखेगी। कंपनी का कहना है कि यह लो-कॉस्ट करियर के तौर पर उसकी फंडामेंटल स्ट्रैटेजी के खिलाफ है। हालांकि एयरलाइन कंपनी कोल्ड फूड मेनू में नए विकल्प तलाश रही है।


IndiGo के एक सीनियर एग्जिक्यूटिव ने बताया, "गर्म खाना को फ्लाइट में अवन में रखना पड़ता है और अवन काफी महंगा पड़ता है। अवन को चलाने के लिए काफी फ्यूल की जरूरत होती है। इससे हमारा खर्च बढ़ जाता है। लो-कॉस्ट विमान होने की वजह से हम ऐसा नहीं कर सकते हैं। लेकिन हम अपने कोल्ड फू़ड मेनू में नए आइटम जोड़ने का विकल्प तलाश रहे हैं।"


किसी भी एयरलाइन कंपनी की सबसे ज्यादा खर्च फ्यूल पर होता है। एक हिसाब से देखें तो कुल खर्च का करीब 35-40 फीसदी फ्यूल पर जाता है। फ्यूल खर्च का सीधा असर कंपनी की आमदनी पर पड़ता है।


IndiGo का फ्यूल कॉस्ट जुलाई-सितंबर में 2.6 फीसदी बढ़कर 3115 करोड़ रुपए हो गया। यह इस तिमाही में IndiGo के कुल खर्च का करीब 33 फीसदी है।


एयरलाइन कंपनी पिछले एक साल से अंतरराष्ट्रीय मार्केट में तेजी से अपना विस्तार कर रही है। हालांकि इसमें जानकारों का कहना है कि A320neo के विमान की सीटें आरामदायक नहीं हैं। इस पर अधिकारी का कहना है, "हम सीटों की कुशनिंग का काम करेंगे।"


IndiGo के बेड़े में करीब 250 एयरक्राफ्ट हैं। एयरलाइन हर दिन करीब 1500 उड़ानें ऑपरेट करती है। यह 60 डोमेस्टिक डेस्टिनेशन और 23 इंटरनेशनल डेस्टिनेशन को जोड़ती है। मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में एयरलाइन वियतनाम, म्यांमार, चीन और सऊदी अरब के मार्केट में दाखिल हुई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।