Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Infosys Q4 Results: कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 2.6% गिरा, मार्केट प्राइस से 25% ज्यादा भाव पर शेयर बायबैक को मंजूरी

इंफोसिस के बोर्ड ने 1750 रुपए प्रति शेयर बायबैक करने की मंजूरी दे दी है, जबकि 13 अप्रैल को कंपनी के शेयर 1402 रुपए पर बंद हुए थे
अपडेटेड Apr 15, 2021 पर 10:36  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आईटी की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी इंफोसिस (Infosys) ने 14 अप्रैल को मार्च 2021 तिमाही के नतीजे जारी किए हैं। इस तिमाही में कंपनी का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 2.6 फीसदी गिरकर 5078 करोड़ रुपए रहा। यह अनुमान से कम है। एनालिस्ट्स उम्मीद कर रहे थे कि चौथी तिमाही में इंफोसिस का कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 5170.2 करोड़ रुपए रह सकता है।


तिमाही-दर-तिमाही आधार पर इंफोसिस की कंसॉलिडेटेड आमदनी 2.8 फीसदी बढ़कर 26,311 करोड़ रुपए रही। यह भी एनालिस्ट्स के अनुमान से कुछ कम है। एनालिस्ट्स 26,701.8 करोड़ रुपए कंसॉलिडेटेड आमदनी की उम्मीद कर रहे थे।


बेंगलुरु की आईटी कंपनी ने फिस्कल ईयर 2021-2022 के लिए 12-14 फीसदी सेल्स ग्रोथ का टारगेट दिया है। जबकि उम्मीद जताई है कि इस दौरान मार्जिन बैंड 22-24 फीसदी रह सकता है।


साल-दर-साल आधार पर इंफोसिस की आमदनी मार्च तिमाही में 9.6 फीसदी बढ़ी। इस दौरान मुनाफा 17 फीसदी बढ़ा है।


मार्च में खत्म तिमाही में कंपनी की कंसॉलिडेटेड ऑपरेटिंग मार्जिन 24.5 फीसदी रहा। यह पिछली तिमाही से 0.90 फीसदी कम है।  


डिविडेंड का ऐलान


कंपनी ने 15 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से डिविडेंड का भी ऐलान किया है।


25% प्रीमियम पर शेयर बायबैक करेगी कंपनी


चौथी तिमाही के नतीजों से पहले इंफोसिस के बोर्ड की आज अहम बैठक थी। इस बैठक में बोर्ड ने 1750 रुपए प्रति शेयर बायबैक करने की मंजूरी दे दी है। 13 अप्रैल को इंफोसिस के शेयरों के बंदभाव के मुकाबले यह 25 फीसदी ज्यादा है। 13 अप्रैल को कंपनी के शेयर 1402 रुपए पर बंद हुए थे। 14 अप्रैल को भीमराव अंबेडकर की जयंति के मौके पर बाजार बंद है। 


देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस ने मंगलवार 13 अप्रैल को कहा था कि वह 9200 करोड़ रुपए के शेयर बायबैक करेगी।


कंपनी ने चौथी तिमाही के नतीजे जारी करते हुए यह भी बताया है कि फिस्कल ईयर 2021 में उसने 1 लाख करोड़ रुपए आमदनी का मुकाम हासिल कर लिया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।