Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Infosys इस साल देश-विदेश के 26,000 फ्रेशर्स को देगी नौकरी, इतने भारतीयों को मिलेगी जॉब

देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी Infosys ने इस फाइनेंशियल ईयर फ्रेशर्स को बंपर नौकरियां देने का ऐलान किया है
अपडेटेड Apr 15, 2021 पर 09:53  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी TCS के बाद अब FY21 के Q4 के नतीजे जारी करते हुए देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस (Infosys) ने इस फाइनेंशियल ईयर फ्रेशर्स को बंपर नौकरियां देने का ऐलान किया है। Infosys ने कहा कि कंपनी FY22 में कैंपस प्लेसमेंट के जरिये 26,000 फ्रेशर्स को नौकरी देगी।

इंफोसिस कैंपस प्लेसमेंट के जरिये जिन 26 हजार फ्रेशर्स को नौकरी देगी उनमें 24,000 नौकरियां भारत के लोगों को दी जाएगी, जबकि 2,000 जॉब्स कंपनी विदेशी छात्रों को देगी। आपको बता दें कि पिछले फाइनेंशियर ईयर यानी 2020-21 में Infosys ने 21,000 फ्रेशर्स की हायरिंग की थी। इनमें 19 हजार नौकरियां भारतीय छात्रों को दी गई थी।

स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में कंपनी ने बताया कि मार्च 2021 के अंत तक कंपनी में 2,59,619 कर्मचारी काम कर रहे थे, जबिक कंपनी के साथ 17,248 नए कर्मचारी जुड़े। इंफोसिस के COO यूबी प्रवीण राव (UB Pravin Rao) ने बताया कि कंपनी अपने रेगुलर कम्पेंसेशन साइकल पर लौट रही है और जनवरी, 2021 के बाद कंपनी ने कर्मचारियों के लिए सेंकेंड कम्पेंसेशन रिव्यू की घोषणा कर दी है।

Infosys का एट्रिशन रेट (attrition rate) मार्च तिमाही में 15.2% रहा। यानी कंपनी छोड़कर जाने वालों की दर 15% से ज्यादा रही। जबकि दिसंबर तिमाही में एट्रिशन रेट 10% रहा था। यूबी प्रवीण राव ने कहा कि कंपनी एट्रिशन रेट को कम करने के लिए कई कदम उठा रही है। Q4 में Infosys का यूटिलाइजेशन रेट 86.3% रहा, जिसे कंपनी कम करना चाहती है।

TCS देगी 40,000 फ्रेशर्स को नौकरी

IT सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी TCS ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 40,000 से ज्यादा फ्रेशर को हायर करेगी। इसके साथ ही TCS ने अपने कर्मचारियों की सैलरी हाइक की घोषणा कर दी है, जो 1 अप्रैल, 2021 से प्रभावी हो गया है। आपको बता दें कि मार्च तिमाही के दौरान TCS का एट्रिशन रेट केवल 7.2% रहा जो कंपनी के इतिहास में अब तक सबसे कम है। यानी TCS को छोड़कर केवल 7.2% कर्मचारी गए या निकाला गया।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।