Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

जेट रिवाइवल, नरेश गोयल ने लिया नाम वापस

प्रकाशित Tue, 16, 2019 पर 13:22  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जेट को लेकर बड़ी खबर आ रही है। नरेश गोयल ने जेट की बोली प्रक्रिया से अपना नाम वापस ले लिया है। इधर दिल्ली में बैंकों की वित्त मंत्रालय के अधिकारियों से बातचीत जारी है। जेट को लेकर दिल्ली और मुंबई दोनों जगह हलचल है। बोर्ड बैठक के बाद जेट मैनेजमेंट ने कहा बैंकों से पूंजी नहीं मिली तो जेट को बचाना मुश्किल होगा। इधर बैंक बोल रहे हैं कि जेट के रिवाइल पर काम जारी है।


कैश की किल्लत से जूझ रही जेट एयरवेज ने अस्थायी तौर पर अपना कामकाज बंद कर दिया है। CNBC-TV18 को मिली जानकारी के मुताबिक, बैंकों ने जेट एयरवेज को कामकाज के लिए इमरजेंसी फंड मुहैया कराने से इनकार कर दिया। सूत्रों के मुताबिक, जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने की रेस से बाहर हो गए हैं।


कंपनी के निदेशक मंडल ने मंगलवार को बैठक की. बोर्ड बैठक में जेट मैनेजमेंट ने बैंकों से कहा कि पूंजी नहीं मिली तो कंपनी को बचाना मुश्किल होगा। इससे पहले बैंको ने कंपनी को 1500 करोड़ रुपए देने का भरोसा जताया था लेकिन तक अभी तक फंड मुहैया नहीं कराया है। इससे पहले सोमवार को भी बैंकों के साथ बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकल पाया था। वहीं जेट एयरवेज का शेयर भी 10 फीसदी टूट गया है।


फंड की कमी की वजह से जेट का कामकाज घटता जा रहा है। कंपनी को अपने पायलटों को सैलरी देने और लीज रेंट देने के लिए तुरंत पैसों की जरूरत है।


कभी खुशी कभी गम


जेट एयरवेज का शुमार कभी देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनियों में होता था। इसके बेड़े में 123 एयरक्राफ्ट थे। अब इसके पास सिर्फ 7 प्लेन बच गए हैं और कंपनी का लॉस 8000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो गया है।