Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Jio का IUC चार्ज लगाना टेलीकॉम सेक्टर के लिए अच्छा है फैसला: UBS

टेलीकॉम एक्सपर्ट मनोज गैरोला ने भी IUC को लेकर TRAI के रवैये के कंज्यूमर विरोधी बताया है।
अपडेटेड Oct 11, 2019 पर 13:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

6 पैसा प्रति मिनट IUC वसूलने का फैसला टेलीकॉम सेक्टर के लिए अच्छा है। ये कहना है UBS का। अपनी रिपोर्ट में UBS ने कहा है कि इस कदम से कई अनिश्चितताएं पैदा होंगी लेकिन कुल मिलाकर पूरे सेक्टर के लिए ये अच्छा है। इससे कंपनी की आमदनी बढ़ेगी। लेकिन रेगुलेटर TRAI और JIO के कंपिटिटर इसपर कैसे रिएक्ट करते हैं ये अनिश्चितता के घेरे में है। UBS के मुताबिक एक संभावना ये भी है कि रेगुलेटर IUC चार्ज को शून्य करने के पुराने प्लान पर कायम रहे और इसकी तारीख आगे ना बढ़ाए।


उधर टेलीकॉम एक्सपर्ट मनोज गैरोला ने IUC को लेकर TRAI के रवैये के कंज्यूमर विरोधी बताया है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि TRAI कंज्यूमर का पक्ष ना लेकर कॉरपोरेट का पक्ष ले रहा है।


गौरतलब है कि रिलायंस JIO अब अपने ग्राहकों से 6 पैसे प्रति मिनट की दर से IUC वसूलेगा। कंपनी ने ये फैसला इसलिए लिया है क्योंकि टेलीकॉम रेगुलेटर TRAI IUC चार्ज खत्म करने को तैयार नहीं है। चूंकि JIO अपने ग्राहक को फ्री कॉलिंग की सुविधा देती है इसलिए उसे अपनी जेब से हजारों करोड़ रुपया IUC के तौर पर देना पड़ रहा है।


 


(डिस्क्लेमरः मनीकंट्रोल डॉट कॉम नेटवर्क 18 समूह का हिस्सा है। मनीकंट्रोल डॉट कॉम और अन्य डिजिटल, प्रिंट और टीवी चैनल नेटवर्क 18 के अंतर्गत आते हैं। नेटवर्क 18 का स्वामित्व और प्रबंधन रिलायंस इंडस्ट्रीज के हाथ में है।)


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।