न्युक्लियर प्रोजेक्ट्स में अहम भूमिका: वालचंदनगर -
Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

न्युक्लियर प्रोजेक्ट्स में अहम भूमिका: वालचंदनगर

प्रकाशित Thu, 15, 2018 पर 14:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर है वालचंदनगर इंडस्ट्रीज। नतीजों के बाद से कंपनी के शेयर पर दबाव है। वैसे पिछले 6 महीने में इसका शेयर करीब 55 फीसदी उछल चुका है। वलचंदनगर डिफेंस सेक्टर में काम करती है। कंपनी प्रोजेक्ट पर काम और मशीनरी सप्लाई करती है। न्यूक्लियर पावर, एयरोस्पेस, मिसाइल, ऑयल एंड गैस में कंपनी का कारोबार है। कंपनी ने मंगलयान और चंद्रयान को भी पार्ट्स सप्लाई किए हैं। कंपनी के 4 मैन्युफैक्चरिंग प्लांट हैं।


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में कंपनी घाटे से मुनाफे में आई है। इस अवधि में कंपनी को पिछले साल के समान अवधि के 6.6 करोड़ रुपये के घाटे के मुकाबले 22.33 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। तीसरी तिमाही में कंपनी की आय भी सालाना आधार पर 16.4 फीसदी बढ़कर 116.3 करोड़ रुपये रही है।


आगे क्या है कंपनी की योजनाएं ये बताते हुए वालचंदनगर इंडस्ट्रीज के एमडी और सीईओ जी के पिल्लई ने कहा कि केकेआर की गई फंडिंग की वजह से कंपनी पर कर्ज का बोझ कम हुआ है। उत्पादन और कमाई बढ़ाने पर फोकस से तीसरी तिमाही में कपंनी की आय में अच्छी बढ़ोतरी देखने को मिली है। उन्होंने आगे कहा कि चौथी तिमाही में कंपनी के मुनाफे में और बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।


जी के पिल्लई ने बताया कि कंपनी के पास अभी करीब 900 करोड़ रुपये के ऑर्डर हैं जिसमें से 600 करोड़ रुपये के ऑर्डर डिफेंस, न्यूक्लियर सेक्टर से संबंधित हैं जबकि 300 करोड़ रुपये के शुगर और ब्यालर के पुराने ऑर्डर हैं। कंपनी 10 प्रस्तावित न्युक्लियर प्रोजेक्ट में अहम भूमिका निभाने के लिए तैयार है।