Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

लिक्विडिटी की कोई परेशानी नहीं: रेप्को होम फाइनेंस

प्रकाशित Mon, 03, 2018 पर 15:03  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर है रेप्को होम फाइनेंस। आरबीआई ने सिक्योरिटाइज लोन में एनबीएफसी को बड़ी राहत दी है। एनबीएफसी को आरबीआई ने राहत देते हुए सिक्योरिटाइजेशन ट्रांजैक्शन के नियम आसान कर दिए हैं जिसके तहत 5 साल वाले लोन के लिए होल्डिंग टाइम में ढील दी गई है। अब एमआरआर सिक्योरिटाइज्ड लोन के बुक वैल्यू का 20 फीसदी होगा।


सितंबर तिमाही में रेप्को होम की ब्याज से होने वाली आय 5.2% गिरकर 115.4 करोड़ रुपये रही है। वहीं, मुनाफा 5.1 फीसदी गिरकर 66.6 करोड़ रुपये रही है। इस अवधि में कंपनी का ग्रॉस एनपीए सालाना आधार पर 3.96 फीसदी से गिरकर 3.6 फीसदी रहा है।


रेप्को होम फाइनेंस के सीओओ यशपाल गुप्ता ने सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए कहा कि कंपनी को लिक्विडिटी की कोई परेशानी नहीं है। लेकिन बैंक लेंडिंग रेट बढ़ा रहे जिससे कंपनी की ब्याज लागत बढ़ रही है। बैंक एनबीएफसी पर रिस्क प्रीमियम लगाने की बात कर रहे हैं जिसको लेकर एनबीएफसी सेक्टर में चिंता है।