Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Kotak Life Insurance को वर्ष 2021 के Q1 में कोविड-19 के कारण 275 करोड़ रुपये का घाटा, जानें पूरा मामला

कोटक लाइफ इंश्योरेंस को अपने शेयरहोल्डर्स अकाउंट में कोरोना वायरस महामारी के कारण 225 से 275 करोड़ रुपये का घाटा हो सकता है
अपडेटेड Jun 17, 2021 पर 16:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोटक महिंद्रा बैंक की सहयोगी इंश्योरेंस कंपनी कोटक लाइफ इंश्योरेंस (Kotak Life Insurance) को अपने शेयरहोल्डर्स अकाउंट में कोरोना वायरस महामारी के कारण 225 से 275 करोड़ रुपये का घाटा हो सकता है। दरअसल, कोटक लाइफ को यह नुकसान कोरोने के बढ़ते मामले और हुए मौतौं के कारण इंश्योरेंस क्लेम और प्रोविजंस बढ़ने के कारण होगा।

कोटक महिंद्रा बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज को अपनी रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा कि कोटक लाइफ ने कंपनी को बताया है कि इंश्योरेंस क्लेम की राशि जितनी उम्मीद की जा रही थी उससे अधिक हो सकती है। आपको बता दें कि 16 जून को कोटक महिंद्रा बैंक के बोर्ड की बैठक हुई थी, जिसमें बढ़ हुए क्लेम के कारण 225 से 275 करोड़ रुपये का घाटा होने का अनुमान लगाया गया।

शेयर बाजार के खेल में 3 दिन में खिलाड़ी ने दिया 18 प्रतिशत रिटर्न, आज कहां है नजर

आपको बता दें कि FY21 के Q4 में कोटक लाइफ इंश्योरेंस का नेट प्रॉफिट 193 करोड़ रुपये रहा, एक साल पहले की समान तिमाही में मुनाफा 165 करोड़ रुपये रहा था। जबकि, पूरे वित्त वर्ष यानी 2020-21 के लिए कोटक लाइफ का नेट प्रॉफिट 692 करोड़ रुपये रहा। वहीं, वित्त वर्ष 2019-20 में यह 608 करोड़ रुपये रहा था।

कोटक महिंद्रा बैंक ने बताया कि कोविड के कारण मृत्यु दर कितनी रहती है, आगे की प्रोविजनिंग इस बात पर निर्भर करेगी। अभी कोटक लाइफ का सॉल्वेंसी रेशियो 2.9 गुना है, जबकि इसके लिए रेगुलेटरी रिक्वायरमेंट 1.5 गुना है। बैंक ने बताया कि कोटक लिफ के पास स्ट्रॉन्ग कैपिटल और सॉल्वेंसी पोजीशन है।

 संजीव भसीन ने कहा कि उतार-चढ़ाव भरे बाजार में ये 2 शेयर्स करायेंगे जोरदार कमाई

Q4 में कोटक लाइफ को प्रीमियम के रूप में 4870 करोड़ रुपये प्राप्त हुए, यानी सालाना आधार पर इसमें 26% की बढ़ोतरी हुई, जबकि पूरे FY21 के लिए इसे प्रीमियम के तौर पर 11,110 करोड़ रुपये मिले, जो FY20 में मिले कुल प्रीमियम से 7.4% अधिक है।

1 अप्रैल, 2021 से 31 मई 2021 तक कोटक लाइफ इंश्योरेंस को प्रीमियम के तैर पर 424.15 करोड़ रुपये मिले हैं। सालाना आधार पर इसमें 52% की वृद्धि हुई है। वहीं नए प्रीमियम में 33.5% की ग्रोथ हुई है।

TATA STEEL पर बड़े ब्रोकरेज हाउसेज से जानिये खरीदें, बेचें या करें होल्ड

Moneycontrol ने पहले ही खबर प्रकाशित की थी कि कोरोना के मामले बढ़ने से कंपनियों को भविष्य में अपनी प्रोविजनिंग बढ़ानी होगी। विभिन्न इंश्योरेंस कंपनियों ने 25 मई, 2021 तक कोविड-19 क्लेम्स के रूप में 2500 करोड़ रुपये का भुगतान किया है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।