Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस पर गलत आरोप लगाने वाली लॉ फर्म ने मांगी माफी, 14% चढ़े शेयर

लॉ फर्म ने लक्ष्मी विलास बैंक के साथ इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस के विलय से जुड़े गलत आरोप लगाते हुए याचिका दायर की थी
अपडेटेड Aug 14, 2019 पर 09:52  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Indiabulls Housing Finance। लॉ फर्म मैनेजियम ज्यूरिस LLP ने सार्वजनिक तौर पर इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस से माफी मांगी है। लॉ फर्म ने लक्ष्मी विलास बैंक के साथ इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस के विलय से जुड़े गलत आरोप लगाते हुए याचिका दायर की थी।


अपने प्रेस रिलीज में लॉ फर्म न कहा है कि हमें इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस के पब्लिक डिस्क्लोजर के जरिए यह पता चला कि लक्ष्मी विलास बैंक के साथ उसका विलय होने वाला है। यह समझते हुए कि कंपनी के लिए यह अवसर काफी संवेदनशील है, यह निवेशकों के लिए दबाव बनाने का मौका था। लॉ फर्म ने माना कि लक्ष्मी विलास बैंक के साथ विलय को देखते हुए कंपनी के खिलाफ गलत याचिका दायर की गई थी।


इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस ने 98,000 रुपए के गलत इस्तेमाल से इनकार किया है। यह याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई थी। सार्वजनिक तौर पर मैनेजियम ज्यूरिस के माफी मांगने से मंगलवार को इंडियाबुल्स के शेयर 13.99 फीसदी चढ़कर 575.95 रुपए पर आ गए हैं।


लॉ फर्म ने कहा कि कि उसने सभी गलत आरोप वापस ले लिए हैं। मैनेजियम ने यह माना कि कंपनी के खिलाफ गलत आरोप का मकसद कंपनी का शोषण करना था। लॉ फर्म ने कहा कि हमें अब यह अहसास हो रहा है कि याचिकाकर्ता का मकसद कंपनी, इसके प्रमोटर, डायरेक्टर और अधिकारियों को नुकसान पहुंचाना था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।