Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

LIC और IDBI Bank में हिस्सेदारी बेचने का ऐलान कर सकती है सरकार

सरकार ने LIC में स्टेक सेल का ऐलान पिछले साल किया था लेकिन लीगल और प्रशासकीय चुनौतियों के कारण इसमें देर हुई है
अपडेटेड Jan 28, 2021 पर 14:58  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सरकार LIC में अपनी 10 से 15 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है। इसका ऐलान अगले हफ्ते बजट में किया जा सकता है। इस मामले की जानकारी रखने वाले दो सूत्रों ने बताया कि सरकारी कंपनियों की वित्तीय हालत सुधारने के लिए सरकार इनके निजीकरण की तैयारी में है।


फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण की योजना एयर इंडिया, भारत पेट्रोलियम कॉर्प जैसी बड़ी कंपनियों में सरकारी हिस्सेदारी बेचने की थी लेकिन कोरोनावायरस संक्रमण के कारण इस फिस्कल ईयर में यह काफी मुश्किल हो गया था।


हालांकि सरकार अब एकबार फिर हिस्सेदारी बेचने का काम तेज करना चाहती है। कोरोनावायरस संक्रमण के कारण इकोनॉमी कई दशकों के निचले स्तर पर आ गई है। ऐसे में आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार स्टेक सेल करना चाहती है।


एक सूत्र ने बताया कि सरकार को LIC में हिस्सेदारी बेचने के लिए एक संसदीय कानून में बदलाव करना होगा। इस कानून में बदलाव करने के लिए सरकार को संसद की मंजूरी लेनी होगी। LIC अभी 400 अरब डॉलर से ज्यादा बड़े फंड का मैनेजमेंट कर रही है।


सरकार ने LIC में स्टेक सेल का ऐलान पिछले साल किया था। लेकिन लीगल और प्रशासकीय चुनौतियों के कारण इसमें देर हुई है। एक सूत्र के मुताबिक, LIC के अलावा सरकार IDBI Bank, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और पंजाब एंड सिंध बैंक में भी अपनी हिस्सेदारी बेच सकती है।


इस मामले में सूत्रों ने अपना नाम बताने से इनकार कर दिया और फाइनेंस मिनिस्ट्री के प्रवक्ता ने भी कोई बयान नहीं दिया।


सीतारमण फिस्कल ईयर 2021-2022 का बजट सोमवार 1 फरवरी को पेश करने वाली है। नाम जाहिर ना करने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया कि सरकार चाहती है कि सरकारी बैंकों का बैड एसेट्स प्रस्तावित बैड बैंक में डाल दिया जाए और बाद में बाज़ार सुधरने पर उसे कम दाम पर बेचा जाए। इससे बैंकों बैलेंस शीट दुरुस्त करने में मदद मिलेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।