Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

सरकार ने SFIO को CG Power की जांच का आदेश दिया: सूत्र

CG Power तब से जांच के घेरे में हैं जब से एक व्हिसलब्लोअर ने लेटर भेजकर कंपनी के मैनेजमेंट पर आंकड़ों के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था
अपडेटेड Nov 08, 2019 पर 11:31  |  स्रोत : Moneycontrol.com

CG Power की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स (MCA) ने सीरियस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO) को CG Power के खिलाफ जांच का आदेश दिया है। सूत्रों ने मनीकंट्रोल को बताया कि CG Power के अलावा करीब एक दर्जन कंपनियों के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं। 


MCA ने SFIO को आदेश दिया है कि वह MCA के वेस्टर्न रीजनल डायरेक्टर की सिफारिशों पर जांच शुरू करे। वेस्टर्न रीजनल डायरेक्टर की इस रिपोर्ट में पिछले महीने CG Power का नाम शामिल था।


CG Power तब से जांच के घेरे में हैं जब से एक व्हिसलब्लोअर ने लेटर भेजकर कंपनी के मैनेजमेंट पर आंकड़ों के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था।


इस लेटर का खुलासा होने के बाद कंपनी ने फिस्कल ईयर 2018 के नतीजे दोबारा जारी किए। नतीजे दोबारा जारी करने के बाद CG Power के लेंडर्स ने अपने कर्ज को शेयर में बदलकर मैनेजमेंट पर अपना कब्जा कर लिया। इसकी अगुवाई PE फर्म KKR कर रही थी।


CG Power के नए मैनेजमेंट ने कंपनी के बैलेंस शीट की फॉरेंसिक ऑडिट करने का आदेश दिया। इसके साथ ही कंपनी के चेयरमैन गौतम थापर और दूसरे मैनेजमेंट अधिकारियों को पद छोड़ने के लिए कह दिया। हालांकि थापर ने कंपनी में किसी गड़बड़ी से इनकार किया है। हालांकि इस मामले में मनीकंट्रोल के भेजे गए सवालों का CG Power ने कोई जवाब नहीं दिया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।