Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

मन की बात से मिशन पानी तक, युवा सरपंच ने बदली गांव की तस्वीर

मोगा के गांव निहाल सिंह वाला में आकर योजनाबद्ध तरीके से बसाए गए किसी आधुनिक शहर का अहसास होता है।
अपडेटेड Jul 16, 2019 पर 16:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जरा सोचिए बिन पानी कैसा जीवन, पानी रहेगा तो जीवन चलेगा। इसलिए नेटवर्क 18 ने पानी बचाने के लिए मिशन पानी अभियान शुरू किया है। इसी के तहत आज हम आपको पंजाब के मोगा की एक कहानी दिखाते हैं। जहां एक गांव के युवा सरपंच ने जल संचय कर गांव की तस्वीर बदल दी। जल संकट के खिलाफ मिशन एक बड़ी बात है। लेकिन इसकी शुरूआत एक छोटी सी बात से हो सकती है। पंजाब के मोगा जिले में एक सरपंच ने रेडियो पर प्रधानमंत्री की मन की बात सुनी और ठान लिया कि गांव की तस्वीर बदल देंगे और देखते देखते ये कर दिखाया।


मोगा के गांव निहाल सिंह वाला में आकर योजनाबद्ध तरीके से बसाए गए किसी आधुनिक शहर का अहसास होता है। नालियां, पार्क, पेड़ पौधे और इंटरलॉक टाइलों से सजी गलियां और संस्कृति की झांकी दिखाती पेंटिंग और मूर्तियां। लेकिन सबसे अनोखा है गांव का अपना सीवरेज सिस्टम। दिलचस्प बात है कि गांव के नौजवान सरपंच मिंटू रेडियो पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात सुनकर इतने प्रभावित हुए कि गांव की तस्वीर बदल डाली।


गांव में रोज 4 लाख लीटर पानी रिसाइकल किया जाता है। गंदे पानी को नालियों के जरिए तीन कुंओं और तीन तालाबों वाले ट्रीटमेंट प्लांट में लाया जाता है। यहां पानी से गाद हटाने और उसे फिल्टर करने के बाद खेतों तक पहुंचाया जाता है और इसी पानी से 100 एकड़ में खेती की जाती है। ये पूरा सिस्टम बनाने में गांववालों ने खुद मेहनत-मजदूरी की। करीब 5 करोड़ का खर्च आया जिसमें से 80 फीसदी पैसा खुद गांव वालों ने जुटाया और 20 फीसदी पैसा पंचायत को मिले सरकारी फंड से लिया गया।


अब ट्रीटमेंट प्लांट के पास ही गांव वाले करीब 4 एकड़ जमीन पर एक झील बना रहे हैं ताकि बारिश का पानी जमा किया जा सके। निहाल सिंह वाला गांव पूरे इलाके के लिए प्रेरणा बन चुका है। लोग अब खासकर ये गांव देखने के लिए आते हैं। गांववाले चाहते हैं कि कंद्र सरकार के अधिकारी और मंत्री उनकी गांव की तरफ ध्यान दें तो उनका काम देश भर की प्रेरणा बन सकता है।