Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

सुपर मार्केट में पेट्रोल-डीजल बेचने के लिए मोदी सरकार दे सकती नियमों में ढील

जिन रिटेल कंपनियों का नेटवर्थ 250 करोड़ रुपये होगा, उन्हें पेट्रोल-डीजल बेचने की मंजूरी जल्द ही मिल सकती है।
अपडेटेड Aug 08, 2019 पर 09:00  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अब आपको पेट्रोल-डीजल भराने के लिए केवल पेट्रोल पंप के ही चक्कर नहीं काटने होंगे। बल्कि मोदी सरकार की एक मंजूरी के बाद आपको रिटेल सेक्टर में तेल मिलने लगेगा। दरअसल, मोदी सरकार के कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद सुपर मार्केट चेन्स में पेट्रोल-डीजल बेचने की छूट मिल जाएगी। इससे विदेश की बड़ी कंपनियो सऊदी अरामको (Saudi Aramco) फ्रांस की टोटल (Total) और  ट्रैफिग्युरा (Trafigura) जैसी कंपनियां भारत में तेल बेचना शुरु कर सकती है। 


रिटेल सेक्टर में तेल बेचने के लिए मोदी सरकार ने एक पैनल का गठन किया था। इस पैनल ने स्टडी करके मोदी सरकार को मई में रिपोर्ट दे दी थी। अब इस रिपोर्ट पर सरकार ने कैबिनेट नोट तैयार कर लिया है। इसमें 20 पुराने नियम को खत्म करके कैबिनेट नोट तैयार किया गया है। अब तक उन्हीं कंपनियों को पेट्रोल-डीजल बेचने की परमिशन थी जो तेल के एक्सप्लोरेशन और प्रोडक्शन के साथ उसकी रिफायनिंग और पाइपलाइन बिछाने में 2000 करोड़ रुपये का निवेश कर चुकी हो या करने वाली हो। ऑयल सेक्‍टर में कंपनियों की मौजूदगी कम होने का सबसे बड़ा कारण ऐसे ही बड़े इन्‍वेस्‍टमेंट रोड़ा रहा है। अब रोड़े को सरकार खत्म करना चाहती है।  


फिलहाल तेल मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय, कॉमर्स (वाणिज्य) और कानून मंत्रालय (लॉ मिनिस्ट्री) से सलाह मांगी है। इस प्रस्ताव में तेल बेचने के लिए नियमों में ढील देने की सिफारिश की गई है। इसके अलावा इस प्रस्ताव में उन्हीं कंपनियों को लाइसेंस देने के लिए जोर दिया गया है, जिन कंपनियों का नेटवर्थ 250 करोड़ रुपये हो। पेट्रोल, डीजल और विमानन ईंधन की मांग 2018-19 में क्रमश: 8 फीसदी, 3 और 9 फीसदी बढ़ी थी।


फिलहाल सरकार एक से डेढ़ महीने के भीतर पॉलिसी में बदलाव कर सकती है। अगर पॉलिसी में बदलाव हुआ तो सऊदी अरब की सऊदी अरामको (Saudi Aramco) फ्रांस की टोटल (Total) और तेल कारोबार से जुड़ी ट्रैफिग्युरा (Trafigura) जैसी कंपनियों को भारतीय रिटेल सेक्टर में उतरने का मौका जल्द ही मिल सकता है। हालंकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुदी अरामको तेल मंत्रालय के साथ संपर्क बनाए हुए है। और वो पॉलिसी में बदलाव का इंतजार कर रही है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (@moneycontrolhindi) और Twitter (@MoneycontrolH) पर फॉलो करें.