Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

कच्चे माल के दाम के बढ़ने से मुनाफे पर दबावः JK टायर

प्रकाशित Fri, 17, 2019 पर 13:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जेके टायर का मुनाफा 76.9 फीसदी घटकर 34 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 145.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जेके टायर की आय 18.5 फीसदी बढ़कर 2,705.9 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 2,284 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में कंपनी का एबिटडा 329.3 करोड़ रुपये से घटकर 261 करोड़ रुपये रहा है जबकि साल दर साल आधार पर चौथी तिमाही में कंपनी का एबिटडा मार्जिन 14.4 फीसदी से घटकर 9.6 फीसदी पर रहा है। सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में जेके टायर की अन्य आय 113 करोड़ रुपये से घटकर 10 करोड़ रुपये रही है।


कंपनी के नतीजों पर बात करते हुए JK टायर के प्रेसिडेंट एंड डायरेक्टर एके बाजोरिया ने सीएनबीसी-आवाज़ से बताया कि कंपनी स्कूटर से लेकर माइनिंग टायर तक बनाती है। इस तिमाही में कंपनी की लागत बढ़ने से मार्जिन पर दबाव देखने को मिला है। विशेष तौर पर रबड़ और क्रूड की महंगाई से कंपनी के प्रदर्शन पर असर पड़ा है। रुपए में कमजोरी से भी लागत में इजाफा हुआ है। एके बाजोरिया ने आगे कहा कि फिलहाल रबड़ के दाम में कमी की उम्मीद नहीं है।