Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Q2 से दिक्कतें कम होनी शुरू होंगी, आय सुधरने से मार्जिन में भी सुधार दिखेगा: TCS

कंपनी के मैनेजमेंट ने बताया कि कंपनी को पिछली तिमाही में 6.9 अरब डॉलर का ऑर्डर मिला मिला है।
अपडेटेड Jul 10, 2020 पर 18:32  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दिग्गज IT कंपनी TCS के नतीजे अनुमान से कमजोर रहे हैं। कंपनी के मुनाफे, रेवेन्यू और मार्जिन सभी में गिरावट आई है। लेकिन TCS मैनेजमेंट की कमेंट्री आगे के लिए बेहद पॉजिटिव है। कंपनी को Q2 से ग्रोथ की उम्मीद है। कंपनी प्रबंधन का मानना है कि आय में आगे सुधार देखने को मिलेगा। BFSI सेगमेंट भी H2 में रिकवरी दिखाएगा और यूरोप का कारोबार भी पटरी पर लौटेगा। नतीजों के बाद कंपनी के CFO V Ramakrishnan और CHRO Milind Lakkad से मैने एक्सक्लूसिव बात की।


इस बातचीत में कंपनी के मैनेजमेंट ने कहा कि  Q1 में कंपनी की आय और मार्जिन में कमी आई है। आगे हालात सुधरने की पूरी उम्मीद है। Q2 से दिक्कतें कम होनी शुरू होंगी। आय सुधरने से मार्जिन में भी सुधार दिखेगा।


कंपनी के मैनेजमेंट ने बताया कि कंपनी को पिछली तिमाही में 6.9 अरब डॉलर का ऑर्डर मिला मिला है। हर सेक्टर में ऑर्डर पाइपलाइन अच्छी है। कंपनी के कारोबार में सेगमेंट के हिसाब से रिकवरी देखने को मिलेगी।


कहां जल्दी रिकवरी आएगी? इस सवाल पर कंपनी  मैनेजमेंट ने कहा कि ट्रैवल, एयरलाइंस और होटल सेक्टर मुश्किल में हैं। इनमें रिकवरी देर से दिखने की आशंका है। लाइफ साइंसेस और हेल्थकेयर को लेकर काफी उम्मीद है। BFSI सेगमेंट में भी तेज रिकवरी का भरोसा है।


H1B वीजा का कितना असर? इस सवाल के जवाब में कंपनी  मैनेजमेंट ने कहा कि H1B वीजा के असर का आकलन कर रहे हैं। इसका कितना असर होगा हमें पता है। इसके असर को कम करने के लिए अभी से प्लानिंग हो रही है। इसको लेकर शॉर्ट टर्म में अपनी स्ट्रैटेजी बदलनी पड़ेगी।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।