Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

RBI के नियमों की वजह से प्रोविजनिंग बढ़ानी पड़ी, इससे एकाउन्ट में नुकसान की संभावना नहीं: Bank Of Baroda

Bank of Baroda ने इस तिमाही में करीब 5600 करोड़ की प्रोवोजनिंग की है।
अपडेटेड Aug 11, 2020 पर 15:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पहली तिमाही में Bank Of Baroda को 864.3 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। CNBC-TV18 में बैंक को 433.2 करोड़ रुपये का मुनाफा होने का अनुमान लगाया गया था। वहीं, पिछले साल के इसी तिमाही में बैंक को 709.6 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


पहली तिमाही Bank Of Baroda की ब्याज आय 6,816.1 करोड़ रुपये रही है। CNBC-TV18 के पोल में बैंक की ब्याज आय 6,810.6 रहने का अनुमान लगाया गया था। वहीं, पिछले साल के इसी तिमाही में बैंक की ब्याज आय 6,496 करोड़ रुपये रही थी। तिमाही आधार पर बैंक का Gross NPA 9.40 फीसदी के मुकाबले 9.39 फीसदी रहा है। रुपये में देखें तो तिमाही आधार पर पहली तिमाही में Bank Of Baroda का  Gross NPA 69,381.4 करोड़ रुपये के मुकाबले 69,132 करोड़ रुपये रहा है।


तिमाही आधार पर बैंक का Net NPA 3.13 फीसदी के मुकाबले 2.83 फीसदी रहा है। रुपये में देखें तो तिमाही आधार पर पहली तिमाही में Bank Of Baroda का Net NPA 21,576.6 करोड़ रुपये के मुकाबले 19,449.7 करोड़ रुपये रहा है।


Bank of Baroda ने इस तिमाही में करीब 5600 करोड़ की प्रोवोजनिंग की है। हालांकि सीएनबीसी-आवाज़ एक्सक्लूसिव बातचीत में बैंक के MD & CEO Sanjiv Chadh​a ने कहा है कि बहुत डरने की बात नहीं है। RBI के नियमों की वजह से प्रोवोजनिंग बढ़ानी पड़ी है जिनका आगे राइट बैक होगा। कोविड की वजह से Provision बढ़ा है। कुछ इंटरनेशनल लोन पर भी Provision बढ़ा है। आगे चलकर 2-3 लोन का राइट बैक होने की उम्मीद है। टेक्निकल वजह से कुछ प्रोवोजिनिंग करनी पड़ी है। इससे  एकाउन्ट में नुकसान की संभावना नहीं है। आज का प्रोविजन भविष्य में रिजर्व का काम करेगा।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।