Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

बाजार के औंधे मुंह गिरने के बावजूद RailTel Corporation 29.10% भागा, अब क्या हो निवेश रणनीति

वित्तीय प्रदर्शन के नजरिए से देखें तो कंपनी अपने दूसरे पीयर कंपनियों की तुलना में काफी मजबूत है.
अपडेटेड Feb 27, 2021 पर 12:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

RailTel Corporation of India के शेयरों में आज इंट्राडे में 33.5 फीसदी तक की बढ़त देखने को मिली। बता दें कि आज ही ये शेयर बाजार में लिस्ट हुआ है। बाजार ने आज भारी मारकाट मची है। जिसके चलते सेसेंक्स और निफ्टी आज लगभग 3.8 फीसदी टूटकर बंद हुए हैं।


बीएसई पर इस शेयर की ओपनिंग 104.60 रुपये पर हुई थी जबकि बीएसई पर ही इसका आज का हाईएस्ट लेवल 125.50 रुपये  का रहा। एनएसई पर ये शेयर करीब 15 फीसदी प्रीमियम के साथ 109 रुपये पर लिस्ट हुआ था। एनएसई पर आज इसमें 31.5 फीसदी तक की बढ़त देखने को मिली। एनएसई पर इंट्राडे में इसने 123.65 का हाई बनाया। इस शेयर पर बाजार दिग्गजों की सलाह है कि इसको आप लंबे नजरिए से होल्ड भी कर सकते हैं और चाहे तो आंशिक मुनाफावसूली कर लें।


Angel Broking के Keshav Lahoti ने मनीकंट्रोल से बात करते हुए कहा कि निवेशकों को अलॉटेड शेयरों को होल्ड करना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि हम इस शेयर को लेकर काफी पॉजिटिव है। RailTel Corporation of India इंडियन रेलवे के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में अहम भूमिका निभाएगी। कंपनी की माली हालत काफी मजबूत है और इसपर कोई नहीं कर्ज है। ये 2008 से लगातार डिविडेंड भुगतान कर रही है।


Mehta Equities के प्रशांत तापसे का कहना है कि वर्तमान स्तर पर इस शेयर को धीरे-धीरे एक्यूमुलेंट करना चाहिए और इसमें लंबे नजरिए से बने रहना चाहिए। अगर यह शेयर किसी गिरावट की स्थिति में 100 रुपये के आसपास मिलता है तो यह काफी अच्छा लेवल होगा।


प्रशांत तापसे का कहना है कि कंपनी की संभावनाएं काफी अच्छी नजर आ रही है। रेलवे के कम्युनिकेशंस इंफ्रास्ट्रक्टचर को मजबूती देने के लिए सरकारी प्रयासों को फायदा इस कंपनी को मिलेगा। इसके अलावा कंपनी विदेशी बाजारों में भी संभावनाएं तलाश रही है जिससे इसका लॉन्ग टर्म आउटलुक बहुत अच्छा नजर आ रहा है।


रेल टेल मिली रत्न (कैटेगरी-1) श्रेणी की सरकारी कंपनी है। यह इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी इन्फ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराती है। यह भारत की सबसे बड़ी न्यूट्रल टेलीकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर कंपनी है। कंपनी का गठन सितंबर 2000 में किया गया था। इसका मकसद ट्रेनों के नियंत्रण संचालन, सुरक्षा और देश भर में ब्रॉडबैंड और मल्टी मीडिया नेटवर्क सुविधाएं उपलब्ध कराके अतिरिक्त आय अर्जित करना है। इसके लिए कंपनी ने देश भर में रेलवे ट्रैक के किनारे-किनारे ऑप्टिकल फाइबर केबल का व्यापक जाल फैला रखा है।


हरियाणा के गुरूग्राम और तेलंगाना के सिकंदराबाद में कंपनी के डेटा सेंटर हैं जिनके जरिए ये अपने ग्राहकों को सेवाएं देती है। कंपनी की सबसे बड़ी ग्राहक भारतीय रेल है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।