Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

मालविंदर और शिवेंदर सिंह को सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना का दोषी माना

सिंह बंधुओं के खिलाफ यह केस जापानी कंपनी दाइची सैंक्यो ने किया था।
अपडेटेड Nov 16, 2019 पर 14:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मालविंदर सिंह और उनके भाई शिवेंदर सिंह को सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना का दोषी करार दिया है। सिंह बंधुओं के खिलाफ यह केस जापानी कंपनी दाइची सैंक्यो ने किया था। 


मालविंदर और शिविंदर सिंह को दिल्ली पुलिस ने फर्जीवाड़ा और ठगी का आरोप है। सुप्रीम कोर्ट ने पहले यह कहा था कि वह रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर के जवाब से खुश नहीं है। सिंह बंधुओं ने जापानी कंपनी को 3500 करोड़ रुपए की भरपाई पर जो जवाब दिया था, सुप्रीम कोर्ट उससे संतुष्ट नहीं है।


सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने अप्रैल की सुनवाई में कहा था, "आप आधी दुनिया के मालिक हो सकते हैं लेकिन इसका कोई पक्का प्लान नहीं है कि आपने कैसे 3500 करोड़ रुपए की आर्बिट्रल अमाउंट की भरपाई कैसे करेंगे। आपने कहा कि किसी पर आपके 6000 करोड़ रुपए बकाया थे। लेकिन यह ना तो यहां है ना वहां।"


मालविंदर और शिविंदर सिंह ने सिंगापुर में चल रहे केस में 2562 करोड़ रुपए का भुगतान अभी दाइची सैंक्यो को नहीं किया है।


मार्च में सुप्रीम कोर्ट न सिंह बंधुओं से पूछा था कि सिंगापुर ट्राइब्यूनल में उनके खिलाफ जो मुआवजा (आर्बिट्रल अमाउंट) तय हुआ है वह कैसे चुकाएंगे।  तब सुप्रीम कोर्ट ने यह चेतावनी दी थी कि अगर वो कोर्ट की अवमानना करते पाए जाते हैं तो उन्हें जेल भेज जाएगा।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।