Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Ranbaxy के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह गिरफ्तार, धोखाधड़ी का आरोप

दिल्ली पुलिस के इकोनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) ने शिविंदर सिंह को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया है
अपडेटेड Oct 11, 2019 पर 08:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Ranbaxy pharmaceuticals। रैनबैक्सी फार्मा के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। दिल्ली पुलिस के इकोनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) ने शिविंदर सिंह को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया है। इनके अलावा पूर्व CMD सुनील गोधवानी की भी गिरफ्तारी हुई है।


दिसंबर 2018 में रेलिगेयर एंटरप्राइज लिमिटेड (REL) की सब्सिडियरी रेलिगेयर फिनवेस्ट (RFL) ने दिल्ली पुलिस के इकोनॉमिक ऑफेंस विंग में एक आपराधिक मामला दर्ज कराया था। दिलचस्प था कि कंपनी ने अपने प्रमोटर्स मलविंदर मोहन सिंह और शिविंदर मोहन सिंह के खिलाफ ही शिकायत दर्ज कराई थी।


इस शिकायत में रेलिगेयर के पूर्व CMD सुनील गोधवानी सहित कई दूसरे डायरेक्टर्स पर चीटिंग, फ्रॉड और फंड के गबन करने का आरोप लगाया था। लाइवमिंट के मुताबिक, REL की तरफ से दी गई जानकारियों में बताया गया है कि प्रमोटर्स और दूसरे अधिकारियों ने मिलकर 740 करोड़ रुपए का फ्रॉड किया है।


लाइवमिंट के मुताबिक, REL ने बताया है कि प्रमोटर्स के खिलाफ यह शिकायत चीटिंग, धोखा देने, फ्रॉड करने, फर्जीवाड़ा और अपराधिक षड्यंत्र रचने के खिलाफ दर्ज कराई गई थी। REL की रिलीज के मुताबिक, कंपनी का नया बोर्ड और मैनेजमेंट आने के बाद अंदरूनी जांच हुई, जिसके बाद यह शिकायत दर्ज कराई गई थी।


रिपोर्ट के मुताबिक, फरवरी 2018 तक REL पर सिंह ब्रदर्स का मालिकाना हक था। फरवरी 2018 में वो REL के बोर्ड से निकल गए। इसके बाद REL और RFL के बोर्ड का गठन दोबारा किया गया।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।