Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

RBI के प्रतिबंध से लक्ष्मी विलास बैंक के विलय पर कोई असर नहीं: Indiabulls

इस साल अप्रैल में IBHF ने प्रस्तावित विलय की घोषणा की थी और मई में RBI क मंजूरी के लिए आवेदन किया था।
अपडेटेड Oct 01, 2019 पर 15:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लक्ष्मी विलास बैंक पर RBI ने सख्त कदम उठाया है। इससे लक्ष्मीविलास बैंक और Indiabulls के विलय पर आंच आने की संभावना व्यक्त की जा रही थी। जिसे Indiabulls ने सिरे से खारिज कर दिया है। Indiabulls ने साफ तौर कहा है कि RBI द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का असर उसकी विलय प्रक्रिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा।


28 सितंबर को RBI ने लक्ष्मी विलास बैंक को Prompt Corrective Action (PCA)की लिस्ट में डाल दिया था।


इस साल अप्रैल में IBHF ने प्रस्तावित विलय की घोषणा की थी और मई में RBI की मंजूरी के लिए आवेदन किया था। 


Indiabulls के वाइस-चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर गगन बंगा ने एक साझा कॉल में बताया कि लक्ष्मी विलास बैंक को PCA की लिस्ट में रखा गया है। लेकिन उनके हिसाब से यह एक बेहतर अवसर है और इसमें RBI को भी थोड़ा समय देना होगा कि हम अपने अन्य रेग्युलेटरीज से फीडबैक लें फिर अंतिम फैसला लें कि विलय करना है या नहीं। बंगा ने कहा कि यह कोई आखिरी पड़ाव नहीं है। जहां तक बैंक के प्रस्ताव की बात है इसे लेकर आश्वस्त हूं।


बंगा ने उम्मीद जताई है कि अक्टूबर के आखिरी तक सुनवाई हो सकती है और अगर यह पॉजिटिव रहा तो साल के अंत तक यह प्रक्रिया खत्म हो जाएगी।


बंगा ने कहा कि कंपनी के पास 30 जून, 2019 तक तकरीबन 3 अरब डॉलर का कैश है। उन्होंने कहा कि कंपनी के पास अगले 6 महीने के लिए तकरीबन 10,000 करोड़ रुपये का रिपेमेंट पाइपलाइन में है, जिसके लिए 20,000 करोड़ रुपये से अधिक कैश है।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।