Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

RBI ने DHFL के बोर्ड को सस्पेंड किया, जल्दी ही NCLT में जाएगी कंपनी

RBI जल्द ही दिवालिया हो चुकी DHFL को नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल (NCLT) में लेकर जाने वाला है
अपडेटेड Nov 21, 2019 पर 15:12  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बुधवार को दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्पोरेशन (DHFL) के बोर्ड को भंग कर दिया। RBI ने अपना एक एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त किया है जो कंपनी का कामकाज देखेगा। RBI जल्द ही दिवालिया हो चुकी DHFL को नेशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल (NCLT) में लेकर जाने वाला है।


RBI ने आर सुब्रमण्यकुमार को एडमिनिस्ट्रेटर के तौर पर नियुक्त किया है। सुब्रमण्यकुमार ओवरसीज बैंक के पूर्व एमडी और चीफ एग्जिक्यूटिव (CEO) हैं। यह पहली हाउसिंग फाइनेंस कंपनी होगी जो बैंकरप्सी ट्राइब्यूनल के नए नियमों के तहत NCLT में जा रही है। नए नियम 15 नवंबर को नोटिफाई किए गए थे।


RBI ने अपने बयान में कहा है, "रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया एक्ट, 1934 के सेक्शन 45-IE (I) के तहत मिल अधिकारों के आधार पर दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड के बोर्ड को खत्म किया जा रहा है। कंपनी के गवर्नेंस को लेकर कई मसले हैं। साथ ही इस पर काफी बकाया है।"


RBI ने कहा कि रेज्योलूशन के लिए जल्द ही वह इसे NCLT में लेकर जाएगी। नए नियमों के मुताबिक, सिर्फ एक रेगुलेटर ही किसी फाइनेंशियल कंपनी को बैंकरप्सी ट्राइब्यूनल में लेकर जा सकती है। अभी तक सामान्य तौर पर इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल्स किसी कंपनी को NCLT में लेकर जाते थे लेकिन अब कोई एडमिनिस्ट्रेटर ही यह फैसला कर सकता है।


सितंबर 2019 में RBI ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC) के बोर्ड को बर्खास्त किया था। RBI ने तब जय भगवान भोरिय को बैंक का एडमिनिस्ट्रेटर नियुक्त किया था।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।