Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

RELIANCE ने किया O2C कारोबार के demerger का ऐलान, OIL और GAS बिजनेस के लिए बनेगी नई subsidiary

RELIANCE ने O2C कारोबार के demerger का एलान किया है। कंपनी के OIL और GAS बिजनेस के लिए नई subsidiary बनेगी
अपडेटेड Feb 23, 2021 पर 15:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

RELIANCE ने O2C कारोबार के  demerger का एलान किया है। कंपनी के OIL और GAS बिजनेस के लिए नई subsidiary बनेगी।  पेट्रो केमिकल, गैस, फ्यूल रिटेलिंग जैसे कारोबार शामिल होंगे। कंपनी ने कहा Demerger से O2C कारोबार में नए मौके तलाशने में मदद मिलेगी।


Reliance Industries ने अपने OIL 2 Chemical कारोबार के डीमर्जर का एलान किया है। कंपनी O2C कारोबार के लिए नई सब्सडियरी बनाएगी। इसके बाद O2C कारोबार में पेट्रो केमिकल, गैस, फ्यूल रिटेलिंग शामिल होंगे। इस डीमर्जर से Saudi Aramco जैसे निवेशकों को लाने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही O2C कारोबार में नए मौके तलाशने में मदद भी मिलेगी।


इस डीमर्जर को वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही तक सभी मंजूरी मिलने की संभावना है। RIL इस नई सब्सिडियरी को 10 साल के लिए लोन देगी। कंपनी द्वारा नई सब्सिडियरी को 25 अरब डॉलर का लोन दिया जायेगा। इस लोन की रकम से सब्सिडियरी O2C कारोबार खरीदेगी। हालांकि O2C कारोबार का लोन RIL के पास ही रहेगा।


रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited (RIL) ने आज यानी मंगलवार 23 फरवरी को कहा कि कंपनी अपने Oil-to-Chemicals (O2C) कारोबार की एक स्वतंत्र और नई subsidiary बनायेगा लेकिन साथ ही कंपनी ने कहा कि इस नई subsidiary का 100 प्रतिशत प्रबंधन नियंत्रण कंपनी के पास ही होगा।


RIL ने एक्सचेंजेस को दिये एक नोटिफिकेशन में कहा है कि रिऑर्गेनाइजेशन के बाद भी प्रमोटर ग्रुप के पास O2C कारोबार का 49.14 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी और इस प्रक्रिया का कंपनी की हिस्सेदारी पर कोई परिणाम नहीं होगा।


RIL ने  कहा कि कंपनी को पहले से ही रिऑर्गेनाइजेशन के लिए Securities and Exchange Board of India (Sebi) से सहमति मिल चुकी है। हालांकि कंपनी को इक्विटी शेयरहोल्डर्स और क्रेडिटर्स के साथ ही मुंबई और अहमदाबाद के National Company Law Tribunal (NCLT) बेंचेस और आयकर एथॉरिटी से क्लीयरेंस मिलना बाकी है।


MORGAN STANLEY ने RIL पर ओवरवेट रेटिंग दी है और लक्ष्य को 2252 रुपये तय किया है। उनका कहना है कि डीमर्जर से कंपनी के पास ग्रोथ वाले 4 कारोबार होंगे। कंपनी की डिजिटल, रिटेल, न्यू एनर्जी कारोबार से ग्रोथ बढ़ेगी। वहीं न्यू मटेरियल कारोबार से ग्रोथ को सपोर्ट मिलेगा। इसके साथ ही मार्केट को डिजिटल और रिटेल में वैल्यू दिख रहा है।


(डिस्क्लेमर: नेटवर्क 18 मीडिया एंड इनवेस्टमेंट लिमिटेड पर इंडिपेंडेंट मीडिया ट्रस्ट का मालिकाना हक है। इसकी बेनफिशियरी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज है।)


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।