Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Jio से फ्री कॉल की सुविधा खत्म, क्या है इस फैसले के मायने?

कंपनी वॉयस कॉल पर चार्ज लगा रही है लेकिन इसके बदले अतिरिक्त डाटा दे रही है
अपडेटेड Oct 10, 2019 पर 15:26  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनी RIL Jio ने पहली बार कॉलिंग चार्ज लगाने का फैसला किया है। इस फैसले के मुताबिक Jio के ग्राहक अगर किसी दूसरे ऑपरेटर के नंबर पर फोन करते हैं तो उन्हें 6 पैसा प्रति मिनट के हिसाब से शुल्क देना होगा। कंपनी ने यह भी कहा है कि इस शुल्क के बदले वह ग्राहकों को अतिरिक्त डाटा का फायदा देगी।


कंपनी ने एक बयान जारी करके कहा है कि ना चाहते हुए भी उसे यह कदम उठाना पड़ा है। आज से Jio के कस्टमर्स जो भी फोन करेंगे उस पर उन्हें 6 पैसा प्रति मिनट से चार्ज देना होगा। कंपनी ने कहा कि यह चार्ज तब तक लिया जाएगा जब तक टेलीकॉम रेगुलेटर Trai जीरो टर्मिनेशन चार्ज लागू नहीं कर देता।


कंपनी ने कहा कि Jio के ग्राहकों को BSNL, MTNL, Airtel और Vodafone के नंबर पर फोन करने के लिए एक IUC (इंटरकनेक्टिंग यूजर चार्ज) टॉप अप वाउचर खरीदना होगा। वहीं, पोस्टपेड कस्टमर्स को भी प्रति मिनट के हिसाब से बिल चुकाना होगा। ग्राहकों पर ज्यादा बोझ ना बढ़े, इसलिए कंपनी ने इसके बदले ज्यादा डाटा देने का फैसला किया है।


ऐसा पहली बार हुआ है जब Jio वॉयस कॉल के लिए अपने ग्राहकों से चार्ज कर रही है। हालांकि अगर आप Jio फोन से Jio पर ही कॉल करते हैं तो आपकी कॉल बिल्कुल फ्री होगी। इसके अलावा अगर आप लैंडलाइन नंबर पर, व्हाट्सएप कॉल या फेसटाइम पर कॉल करते हैं तो उसके लिए कोई चार्ज नहीं देना होगा।


वॉयस कॉल पर नए चार्ज को वाजिब ठहराते हुए Jio ने कहा है कि वह भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया जैसी प्रतिद्वंदी कंपनियों को 13500 करोड रुपए IUC चार्ज के तौर पर चुका रही है। कंपनी में कहा कि पिछले 3 साल में उसे IUC में घाटा हो रहा है जिसकी भरपाई के लिए अब वॉयस कॉल पर चार्ज लगाने का फैसला किया गया है।


किसने फिक्स किया IUC चार्ज?


सितंबर 2017 में Trai ने IUC घटाने का आदेश दिया था। मार्केट रेगुलेटर ने अक्टूबर 2017 से IUC घटाकर 6 पैसा प्रति मिनट कर दिया। इससे पहले यह 14 पैसा प्रति मिनट था। हालांकि तब Trai ने कहा था कि 1 जनवरी 2020 से IUC चार्ज खत्म कर दिया जाएगा।


क्या है IUC?


किसी एक ऑपरेटर से दूसरे ऑपरेटर के नंबर पर फोन करने पर यह चार्ज चुकाया जाता है। मसलन Jio के फोन से आपने एयरटेल पर कॉल किया। इस कॉल के लिए एयरटेल के टावर इंफ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल हुआ, जिसके बदले JiO एयरटेल को IUC चुकाएगी।


बाजार में Jio की एंट्री से पहले ही टेलीकॉम कंपनियों को नुकसान हो रहा है। ऐसे में अगर Trai 1 जनवरी 2020 से IUC चार्ज खत्म कर देती है तो इनकी मुश्किलें और बढ़ जाएंगी और फायदा Jio को होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।