Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

रिलायंस इंडस्ट्रीज की तीसरी तिमाही रही शानदार, जानिए नतीजों की कुछ अहम बातें

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 22 जनवरी 2021 को जारी अपने तीसरी तिमाही के नतीजों में उम्मीद से बेहतर आंकड़े पेश किए हैं।
अपडेटेड Jan 24, 2021 पर 11:30  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 22 जनवरी 2021 को जारी अपने तीसरी तिमाही के नतीजों में उम्मीद से बेहतर आंकड़े पेश किए हैं। तीसरी तिमाही के कंपनी के सभी कारोबारों में तिमाही आधार पर जोरदार बढ़त देखने को मिली है। 31 दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में तिमाही आधार पर कंपनी का मुनाफा 40.5 फीसदी बढ़त के साथ 14,894 करोड़ रुपये रहा है। इस अवधि में कंपनी का EPS 20.5 रुपये प्रति शेयर रही है। इसमें भी तिमाही आधार पर 38.2 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। कंपनी की डिजिटल सेवाओं की EBITDA में तिमाही आधार पर रिकॉर्ड बढ़ोतरी देखने को मिली और यह 8,942 करोड़ रुपये पर पहुंच गई।


तीसरी तिमाही की कुछ खास बातें


ऑयल टू केमिकल (O2C) सेगमेंट चमका


कंपनी की इस सेगमेंट की आय में तिमाही आधार पर 10 फीसदी की बढ़त देखने को मिली और यह 83,838 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया। इस शानदार प्रदर्शन में वॉल्यूम में हुई जोरदार बढ़त, बिक्री में आई जोरदार बढ़ोतरी और घरेलू बाजार से मिला जबरदस्त सपोर्ट रहा। तीसरी तिमाही में कंपनी के O2C कारोबार के EBITDA में तिमाही आधार पर 10.3 फीसदी की जोरदार बढ़त देखने को मिली और ये 9,756 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। हालांकि इस सेगमेंट का EBITDA मार्जिन 11.6 फीसदी पर फ्लैट रहा।


ऑयल और गैस सेगमेंट में जोरदार सुधार


कमोडिटी प्राइस की कीमतों में बढ़ोतरी और R-Cluster के उत्पादन में हो रही बढ़ोतरी के चलते तीसरी तिमाही में कंपनी के ऑयल और गैस सेगमेंट में भी शानदार बढ़ोतरी देखने को मिली। इस तिमाही में कंपनी के इस सेगमेंट की आय तिमाही आधार पर 21.4 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 431 करोड़ रुपये पहुंच गई। बता दें कि कंपनी के ऑयल और गैस सेगमेंट में कंपनी का कच्चे तेल और नेचुरल गैस का exploration, development और production कारोबार शामिल है। इस सेगमेंट का EBITDA  सितंबर तिमाही में नेगेटिव था। जो दिसंबर तिमाही में 4 करोड़ रुपये के आंकड़े के साथ पॉजिटिव हो गया। जबकि इसका EBITDA मार्जिन 0.9 फीसदी पर रहा।


रिटेल कारोबार


दिसंबर तिमाही के दौरान देश में कोविड के चलते लागू पाबंदी में ढिलाई आती दिखी। जिसके चलते कंपनी के लगभग 96 फीसदी स्टोर फिर से खुल गए। हालांकि उनमें से सिर्फ आधे अपनी पूरी क्षमता से काम कर रहे थे। दिसंबर के आंकड़ों से पता चलता है कि रिलायंस रिटेल के छोटे शहरों में स्थित स्टोरों में ज्यादा तेजी से रिकवरी देखने को मिली है। दिसंबर तिमाही में कंपनी के रिटेल सेगमेंट की आय तिमाही दर तिमाही आधार पर 9.7 फीसदी की गिरावट के साथ 33,018 करोड़ रुपये रही है। इस सेगमेंट की कमाई पर कोविड-19 महामारी का असर देखने को मिला। इसके अलावा कंपनी के फ्यूल रिटेलिंग बिजनेस के शिफ्टिंग के निर्णय से भी इस सेगमेंट की आय पर असर पड़ा। इस सेगमेंट का EBITDA तिमाही आधार पर 93.9 फीसदी की बढ़त के साथ 3,087 करोड़ रुपये रहा। जबकि EBITDA मार्जिन पिछली तिमाही के 5.5 फीसदी से बढ़कर 9.3 फीसदी रहा।


रिलायंस जियो में दिखी जोरदार ग्रोथ


दिसंबर तिमाही में रिलायंस जियो की आय तिमाही आधार पर 5.3 फीसदी बढ़कर 9,475 करोड़ रुपये रही। जबकि इसका EBITDA 6.4 फीसदी की बढ़त के साथ 8,483 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वहीं इस सेगमेंट का EBITDA मार्जिन 43.6 फीसदी रहा जो कि सितंबर तिमाही में 43.1 फीसदी रहा था। दिसंबर तिमाही में जियो का नेट प्रॉफिट 15.5 फीसदी की बढ़त के साथ 3,489 करोड़ रुपये रहा।


दिसंबर तिमाही में जियो के साथ 52 लाख नए कस्टमर जुड़े। 31 दिसंबर 2020 तक इसके कुल ग्राहकों की संख्या 41.08 करोड़ रही। दिसंबर तिमाही में रिलायंस जियो ARPU 151 रुपये प्रति उपभोक्ता महीने रहा। जो कि सितंबर तिमाही में 145 रुपये था। दिसंबर तिमाही में रिलायंस जियो का कुल डेटा ट्रैफिक में तिमाही आधार पर 4 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली और यह 1,586 करोड़ GB पर पहुंच गया। वहीं इसी अवधि में कंपनी के कुल वॉइस ट्रैफिक में 4.6 फीसदी की तिमाही बढ़त देखने को मिली और ये 97,496 करोड़ मिनट रही।


इस तिमाही के दौरान गूगल ने रिलायंस जियो में 7.73 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 33,737 करोड़ रुपये का निवेश किया। जिसके चलते रिलायंस जियो प्लेटफॉर्म में अलग-अलग निवेशकों द्वारा अब तक किया गया निवेश कुल 1,52,056 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।


मीडिया सेगमेंट


तीसरी तिमाही में रिलायंस के मीडिया सेगमेंट में पूरी रिकवरी आती दिखी। कोरोना संकट से पूरी तरह उभरते हुए दिसंबर तिमाही में कंपनी के मीडिया सेगमेंट की आय 34 फीसदी की तिमाही बढ़त दर्ज करते हुए 1,422 करोड़ रुपये रही। कंपनी को विज्ञापनों से हुई आय में जोरदार और व्यापक रिकवरी देखने को मिली। जिसके चलते इस सेगमेंट का रेवेन्यू कोरोना के पहले के स्तर पर पहुंच गया। कंपनी के मीडिया सेगमेंट के EBITA में तिमाही आधार पर 96 फीसदी और सालना आधार पर 21 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली और यह 324 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इसी तरह इसके EBITDA मार्जिन में तिमाही आधार पर करीब 23 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। बता दें कि मीडिया सेगमेंट में एंटरटेनमेंट, टीवी और डिजिटल न्यूज तीनों शामिल हैं।


कंपनी के नतीजों पर बात करते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के MD और चेयरमैन मुकेश धीरू भाई अंबानी ने कहा कि O2C, रिटेल सेगमेंट और डिजिटल सर्विसेज कारोबार में जोरदार सुधार के चलते हमने दिसंबर तिमाही में शानदार नतीजे पेश किए हैं। हमें इस बात का गर्व है कि रिलायंस ने मार्च 2020 से अब तक 50 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार दिया है।




(डिस्केलमर- हिंदी मनीकंट्रोल, रिलायंस इंडस्ट्रीज की कंपनी नेटवर्क 18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का हिस्सा है। नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट लिमिटेड का स्वामित्व रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास ही है।)
 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH)