Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

म्यूचुअल फंड पर 1 जुलाई से लगेगा स्टांप ड्यूटी, जानिए क्या होगा असर

इस नियम के मुताबिक, MF खरीदने पर कुल इनवेस्टमेंट का 0.005% रकम आपको स्टांप ड्यूटी के तौर पर चुकाना होगा
अपडेटेड Jul 01, 2020 पर 08:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अगर आप 1 जुलाई से कोई म्यूचुअल फंड खरीदते हैं तो आपको उसपर स्टांप ड्यूटी देनी होगी। अगर SIP (सिस्टमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान) और STP (सिस्टमेटिक ट्रांसफर प्लान) खरीदते हैं तो भी आपको  स्टांप ड्यूटी चुकानी पड़ेगी। यह ड्यूटी हर तरह के म्यूचुअल फंड पर देनी होगी-फिर चाहे आप डेट म्यूचुअल फंड खरीदे या इक्विटी म्यूचुअल फंड। इस स्टांप ड्यूटी का सबसे ज्यादा असर डेट फंड्स पर देखने को मिलेगा जो आम तौर पर छोटी अवधि के लिए होती है। 

इस नियम के मुताबिक, म्यूचुअल फंड खरीदने पर कुल इनवेस्टमेंट का 0.005 फीसदी रकम आपको स्टांप ड्यूटी के तौर पर चुकाना होगा। अगर आप म्यूचुअल फंड यूनिट का ट्रांसफर करते हैं तो भी आपको स्टांप ड्यूटी चुकाना होगा। इसमें आपको तीन गुना ज्यादा यानी 0.015 फीसदी स्टांप ड्यूटी देना होगा। स्टांप ड्यूटी को इस तरह डिजाइन किया गया है कि 90 दिन या इससे कम समय तक होल्ड करने वाले यूनिट पर सबसे ज्यादा असर होगा।


लाइव मिंट के मुताबिक, म्यूचुअल फंड पर स्टांप ड्यूटी इस साल जनवरी से ही लगने वाला था लेकिन पहले इसे टालकर अप्रैल किया गया। फिल इसे टालकर जुलाई कर दिया गया। अगर अब इसकी तारीख आगे नहीं बढ़ाई जाती है तो 1 जुलाई से यह लागू हो जाएगा। 


स्टांप ड्यूटी म्यूचुअल फंड यूनिट बेचने के दौरान नहीं बल्कि खरीदते हुए ही आपको चुकाना होगा। लाइव मिंट के मुताबिक, ICICI प्रूडेंशियल AMC के नोट के मुताबिक, "30 दिन या इससे कम समय के लिए निवेश करने वाले इनवेस्टर्स पर इसका असर सबसे ज्यादा होगा। यह ड्यूटी एकबार में ली जाएगी।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।