Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

यस बैंक को डूबने नहीं दिया जा सकता: SBI चीफ रजनीश कुमार

SBI के हेड रजनीश कुमार ने कहा, यस बैंक का लोन बुक इतना बड़ा है कि इस बैंक का डूबना इकोनॉमी के लिए ठीक नहीं है
अपडेटेड Jan 24, 2020 पर 09:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश के सबसे बड़े बैंक SBI के हेड ने कहा, यस बैंक (Yes Bank) के लिए "कोई ना कोई रास्ता निकलेगा।" यस बैंक पिछले कुछ महीनों से फंड जुटाने की मुश्किल से जूझ रहा है।
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के चेयरमैन रजनीश कुमार ने बताया, "यस बैंक बाजार का अहम खिलाड़ी है। इसकी बैलेंस शीट करीब 40 अरब डॉलर की है।" उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि इसे नाकाम नहीं होना चाहिए।"


कुमार के इस बयान से अंदाजा लगाया जा रहा है कि प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक को बचाने में सरकारी बैंक SBI का अहम योगदान हो सकता है। हालांकि पिछले महीने कुमार ने कहा था, "यह सवाल ही पैदा नहीं होता कि SBI यस बैंक के लिए कुछ करेगा।"


फंड जुटाने की मुश्किल के बीच पिछले एक साल में यस बैंक के शेयर 80 फीसदी तक गिर गए है। बैंक की एसेट क्वालिटी को लेकर चिंताएं हैं। बैंक फंड कैसे जुटाएगी, इसका भी कोई रास्ता नहीं मिल रहा है। बैंक कोर इक्विटी कैपिटल रेशियो को बढ़ाना चाहती है जो 8 फीसदी की न्यूनतम सीमा से कुछ ही ज्यादा है।


लाइव मिंट के मुताबिक, "फंड जुटाने में और देर होने पर क्रेडिट इनवेस्टर्स परेशान हो सकते हैं और बैंक की लिक्विडिटी पर बेवजह प्रेशर बढ़ सकता है।"


कुमार ने कहा, अगर यस बैंक धराशायी हो जाता है तो यह देश की इकोनॉमी के लिए ठीक नहीं होगा। उन्होंने कहा, "बैंक का साइज बहुत बड़ा है लिहाजा इसे फेल नहीं होने दिया जा सकता है। मुझे पूरा भरोसा है कि कोई रास्ता निकलेगा।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।