Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

SEBI ने Franklin Templeton और इससे जुड़ी 8 कंपनियों और अधिकारियों पर लगाया 15 करोड़ का जुर्माना, जानें पूरा मामला

SEBI ने अमेरिकी म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेम्पलटन और कंपनी से जुड़े अन्य 8 सहयोगी कंपनियों और अधिकारियों पर कुल 15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है
अपडेटेड Jun 15, 2021 पर 09:10  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) ने अमेरिकी म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेम्पलटन (Franklin Templeton) और कंपनी से जुड़े अन्य 8 सहयोगी कंपनियों और अधिकारियों पर कुल 15 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। Franklin Templeton पर यह जुर्माना इसके समय से पहले बंद हुए 6 डेट स्कीम्स (Debt Schemes) में लापरवाही और नियमों के उल्लंघन के साथ क्रिटिकल रिस्क को नजरअंदाज करने के लिए लगाया गया है।

SEBI ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन ट्रस्टी सर्विसेज (Franklin Templeton Trustee Services) पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। साथ ही फ्रैंकलिन टेम्पलटन ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी (FT-AMC) के प्रेसिडेंट संजय सप्रे (Sanjay Sapre) और चीफ इंवेस्टमेंट ऑफिसर संतोष कामत (Santosh Kamat) पर 2-2 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

अडानी की कंपनियों में निवेश करने वाले FPI का अकाउंट ब्लॉक नहीं हुआ है: NSDL

इसके अलावा SEBI ने Franklin Templeton के विभिन्न स्कीमों में फंड मैनेजर रहे कुणाल अग्रवाल, सुमित गुप्ता, पल्लव रॉय, सचिन पडवाल और उमेश शर्मा, हरेक व्यक्ति पर 1.5 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया। जबकि पूर्व चीफ कम्प्लायंस ऑफिसर सौरव गंगराडे पर 50 लाख का जुर्माना लगाया। सेबी ने कहा कि म्यूचुअल फंड हाउस ने केवल हाई यील्ड का फायदा उठाने के लिए लिक्विडिटी के रिस्क और क्रेडिट रिस्क को नजरअंदाज किया।  

पिछले सप्ताह SEBI ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन एशिया पैसिफिक के पूर्व सीईओ विवेक कुडवा (Vivek Kudva) और उनकी पत्नी रूपा कुडवा (Roopa Kudva) पर एक साल के लिए सिक्योरिटी मार्केट एक्सेस करने पर रोक लगा दी थी। रूपा कुडवा Omidyar Network India की पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। ये दोनों पति-पत्नी अब सिक्योरिटी मार्केट में 1 साल तक ट्रेड नहीं कर पाएंगे।

BHEL के शेयर आज 20% तक टूटे, मार्केट एक्सपर्ट्स को इसके स्टॉक्स में 55% और गिरावट की आशंका

SEBI ने विवेक और रूप कुडवा पर बैन लगाने के साथ दोनों को 45 दिनों के अंदर फ्रैंकलिन टेम्पलटन यूनिट्स (FT Units) के रिडीम किए गए 30.70 करोड़ रुपये एक इस्क्रो अकाउंट (Escrow Account) यानी एक अलग अकाउंट में जमा करने का आदेश दिया था। साथ ही विवेक कुडवा पर 4 करोड़ रुपये और उनकी पत्नी रूपा कुडवा पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

इसके साथ ही SEBI ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी (FT-AMC) पर 2 साल तक कोई नया डेट स्कीम (Debt Scheme) लॉन्च करने पर रोक लगा दी है। कंपनी 2 साल कोई नया डेट स्कीम नहीं लॉन्च कर पाएगी। साथ ही पिछले साल 6 डेट म्यूचुअल फंड्स स्कीम को बंद करने और नियम तोड़ने पर 5 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

Hot Stocks:शॉर्ट टर्म के लिए इन स्टॉक्स पर लगाएं दांव, मिल सकता है 14% तक रिटर्न

SEBI ने कहा कि Debt Scheme चलाने में बरती गई अनियमितताएं और कानून के उल्लंघन के कारण निवेशकों को घाटा हुआ है। कंपनी ने SEBI एक्ट के सेक्शन 15A(b), 15D(b), 15D(f), 15E और 15HB का उल्लंघन किया है, इस वजह से FT-AMC पर 5 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है।

SEBI ने सभी को 45 दिन के अंदर जुर्माना चुकाने का आदेश दिया है। SEBI ने कहा कि नियमों को तोड़ने और 6 डेट स्कीम को समय से पहले बंद करने के कारण निवेशकों को जो घाटा हुआ है, इसके लिए फ्रैंकलिन टेम्पलटन ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी के सीईओ सहित टॉप मैनेजमेंट जिम्मेदार है। सेबी ने FT-AMC के कर्मचारियों पर कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।