Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Infosys केस इतनी आसानी से सुलझने वाला नहीं, SEBI के पास जा सकता है मामला

सेबी इंफोसिस मैनेजमेंट से इन आरोपों पर सफाई मांग सकती है
अपडेटेड Oct 23, 2019 पर 14:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ग्लोबल सॉफ्टवेयर कंपनी Infosys व्हिसलब्लोअर कर्मचारियों के आरोपों के बाद से गंभीर समस्या में फंसी हुई है। CEO सलिल पारेख और CFO निलंजन रॉय पर लगे अनियमितताओं के आरोपों की जांच की बात कही गई है। अब सूत्रों के हवाले से जानकारी है कि The Securities and Exchange Board of India (SEBI) भी व्हिसलब्लोअर्स की शिकायतों को देख सकता है।


सोमवार को व्हिसलब्लोअर्स की शिकायतें सामने आने के बाद मंगलवार को कंपनी के शेयर 17% तक गिर गए थे। कंपनी के MD और चेयरमैन नंदन नीलेकणि ने कहा कि इस मामले की गहन जांच होगी। लेकिन अब जानकारी है कि मामला सेबी के पास भी जा सकता है। बोर्ड इंफोसिस मैनेजमेंट से इन आरोपों पर सफाई मांग सकता है।


बता दें कि कंपनी में काम करने वाले कुछ गुमनाम कर्मचारियों ने 17 सितंबर को बोर्ड को एक खत लिखा था, जिसमें CEO सलिल पारेख और CFO निलंजन रॉय पर पिछली दो तिमाहियों (अप्रैल-सितंबर) में मैनेजमेंट और अकाउंटिंग में कई तरह की गड़बड़ियां करने का आरोप लगाया था। दोनों पर आरोप था कि उन्होंने शॉर्ट टर्म प्रॉफिट बढ़ा हुआ दिखाने और खर्चों को कम दिखाने के लिए अनियमतिताएं की थीं। बोर्ड से कोई जवाब न आने पर व्हिसलब्लोअर्स ने 3 अक्टूबर को US के Whistleblower Protection Program के पास खत भेजा।


21 अक्टूबर को इंफोसिस के मैनेजमेंट की ओर से कहा गया कि उनकी शिकायतों को नियमों के अनुसार कंपनी की ऑडिट कमिटी के सामने रखा गया है। लेकिन लगता है कि इस मामले में अब सेबी की दखल भी होगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।