Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

कंपनियों में से "प्रमोटर" को हटाएगा सेबी, जानिए क्या होंगे नए बदलाव

सेबी अगर भारत के कॉरपोरेट स्ट्रक्चर में यह बदलाव करता है तो यह ग्लोबल पैमानों के बराबर हो जाएगा
अपडेटेड Nov 20, 2019 पर 08:51  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मार्केट रेगुलेटर सेबी कंपनियों से "प्रमोटर" का कॉन्सेप्ट "खत्म" करने की तैयारी में है। इकोनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक, सेबी कंपनियों के बोर्ड से "प्रमोटर" हटाकर "कंट्रोलिंग शेयरहोल्डर्स" का कॉन्सेप्ट शुरू हो सकता है।


इकोनॉमिक टाइम्स ने सेबी के प्राइमरी मार्केट एडवाइजरी कमिटी के सूत्रों के हवाले से बताया कि फिलहाल इसकी योजना बनाई जा रही है। इस कमिटी के हेड मोहनदास पई हैं। मनीकंट्रोल स्वतंत्र रूप से इस खबर की पुष्टि नहीं करता है।


सेबी अगर भारत के कॉरपोरेट स्ट्रक्चर में यह बदलाव करता है तो यह ग्लोबल पैमानों के बराबर हो जाएगा। प्रमोटर्स की जगह कंट्रोलिंग शेयरहोल्डर्स होने के बाद उनके पास पावर तो होगा लेकिन वो बोर्ड की अनदेखी नहीं कर सकते हैं।


मौजूदा नियमों के मुताबिक, प्रमोटर कोई व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह होता है जो कंपनी के मैनेजमेंट के रोजमर्रा के फैसलों को कंट्रोल करता है। सूत्रों के मुताबिक, सेबी का मानना है कि कई प्रमोटर्स कंपनी के कामकाज में कोई भूमिका नहीं निभाते जबकि उनके पास कंपनी की बड़ी हिस्सेदारी होती है।


रेगुलेटर का यह भी मानना है कि इकोनॉमी और कारोबारी माहौल में बदलाव हुआ है लिहाजा अब स्ट्रक्चर में भी बदलाव होना चाहिए। इससे खासतौर पर स्टार्टअप्स को फायदा होगा।


हालांकि यह भारत के कारोबार जगह के लिए बहुत बड़ा फैसला होगा लेकिन विदेश में यह पहले से ही लागू हो चुका है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।