Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

ट्रैवल सेक्टर में अमेजॉन, परेशान छोटे ट्रैवल एजेंट

अमेजॉन के ट्रैवल सेक्टर में उतरने का विरोध शुरू हो गया है। छोटे ट्रैवल एजेंट अमेजॉन से परेशान हैं।
अपडेटेड May 23, 2019 पर 08:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अमेजॉन के ट्रैवल सेक्टर में उतरने का विरोध शुरू हो गया है। छोटे ट्रैवल एजेंट अमेजॉन से परेशान हैं। इन्हें ई-कॉमर्स कंपनी के चलते अपना टूर एंड ट्रैवल का धंधा बंद होने का खतरा दिख रहा है। अब वो अमेजॉन को चुनौती देने का मन बना रहे हैं।


पहले छोटे दुकानदार और अब छोटे ट्रैवल एजेंट्स। इन सबको अपना धंधा बंद होता दिख रहा है। अमेजॉन ने Cleartrip के साथ मिलकर ऑनलाइन ट्रैवल बुकिंग सेक्टर में कदम रख दिया है। अब Amazon के मोबाइल ऐप और वेबसाइट के पेज पर जाकर फ्लाइट बुकिंग की जा सकती है। यही नहीं इस पोर्टल पर टिकट कैंसिल करने पर कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा। फ्लाइट बुकिंग पर अमेजॉन 2,000 रुपये तक का कैशबैक भी दे रही है। उधर अमेजॉन की इस अक्रामक एंट्री से ट्रैवल छोटे ट्रैवल एजेंट्स चिंतित हैं। इनका मानना है कि अमेजॉन बाहर से लाए पैसे से डिस्काउंट देकर भारतीय ट्रैवल बाजार पर कब्जा करना चाहती है।


देशभर की ट्रैवल एजेंट्स का एसोसिएशन Indian Association of Tour Operators अमेजॉन से निपटने के लिए कानूनी रास्ता तालाश रहा है। एसोसिएशन भारी डिस्काउंट के खिलाफ CCI यानी कंपिटिशन कमीशन ऑफ इंडिया में भी अर्जी देगा। इसके अलावा केंद्र में नई सरकार बनने के बाद इसके प्रतिनिधी नए वित्तमंत्री और पर्यटन मंत्री से भी मिलेंगे। Indian Association of Tour Operators एक ट्रैवल पोर्टल भी बनाने की योजना पर काम कर रहा है। इस पोर्टल से उसके सभी सदस्य जुड़े होंगे और लोगों को सर्विस देंगे।


हालांकि ये पहली बार नहीं है कि ट्रैवल ऐजेंट्स किसी ऑनलाइन पोर्टल का विरोध कर रहे हैं। Makemytrip और यात्रा जैसी वेबसाइट्स से इनकी लड़ाई काफी समय से चल रही है। यहां पहले से ही गलाकाट कंपिटिशन है। बहुत कम मार्जिन पर कंपनियां काम कर रही, ऐसे में अमेजॉन के आने अब ट्रैवल एजेंट्स को अपने वजूद पर खतरा दिख रह है।