Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

दिसंबर 2020 से पहले हो स्पेक्ट्रम नीलामी, नीलामी में देरी से 4G सेवाएं पर असर संभव: RJio

रिलायंस जियो ने दूरसंचार विभाग को चिट्ठी लिखकर इसी साल स्पेक्ट्रम नीलामी की मांग की है।
अपडेटेड Sep 30, 2020 पर 11:12  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रिलायंस जियो ने दूरसंचार विभाग को चिट्ठी लिखकर इसी साल स्पेक्ट्रम नीलामी की मांग की है। कंपनी का कहना है कि नीलामी नहीं होने से 4G सेवाओं पर असर पड़ सकता है।  RJio ने DoT को चिट्ठी लिखकर दिसंबर 2020 से पहले स्पेक्ट्रम नीलामी की मांग की है। इस चिट्ठी में रिलायंस जियो ने कहा है कि स्पेक्ट्रम नीलामी से सरकार को 25,000 करोड़ रुपए की आय संभव है। कंपनी का कहना है कि नीलामी नहीं होने से 4G सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं और निवेशकों का भरोसा टूट सकता है। स्पेक्ट्रम नीलामी से डिजिटल इंडिया और ब्रॉडबैंड मिशन को बढ़ावा मिलेगा। कंपनी ने सरकार से सारा उपलब्ध स्पेक्ट्रम नीलाम करने की मांग की है। बता दें कि स्पेक्ट्रम की आखरी नीलामी 2016 में हुई थी।


गौरतलब है कि 2017-18 और 2018-19 में स्पेक्ट्रम की कोई नीलामी नहीं हुई। इससे पहले आखिरी नीलामी अक्टूबर 2016 में हुई थी। उस नीलामी में जितने स्पेक्ट्रम नीलामी के लिए रखे गए थे, उसका महज 40 फीसदी ही बिक पाया। महज 965 मेगाहर्ट्ज की नीलामी से सरकार को 65,789 करोड़ रुपये की आय हुई थी। देश की टेलीकॉम कंपनियां इस वक्त वित्तीय समस्याओं से जूझ रही हैं। इस स्थिति में  रिलायंस जियो की तरफ से  स्पेक्ट्रम नीलामी की मांग कंपनी की वित्तीय मजबूती व्यक्त करती है।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।