Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

लॉकडाउन में 1 करोड़ से अधिक लोगों ने गंवाई नौकरी, जानिए किस सेक्टर से कितने लोगों की गई जॉब?

भारत में लॉकडाउन की वजह से 25 मार्च के बाद से अबतक करीब 1,07,80,000 (10.8 million) लोगों को अपनी नौकरी गंवानी (People Lost Jobs) पड़ी है।
अपडेटेड Aug 17, 2020 पर 08:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना महामारी (Coronavirus Epidemic) से आज पूरी दुनिया जूझ रही है और इसके कारण लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था (Global Economy) चरमरा गई है। इस कोरोना काल में दुनियाभर में लाखों लोगों को लॉकडाउन (Lockdown ) की वजह से अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है तो करोड़ों लोग बेरोजगार हो चुके हैं।


Moneycontrol के मुताबिक, इसी कड़ी में भारत में भी लॉकडाउन की वजह से 25 मार्च के बाद से अबतक करीब 1,07,80,000 (10.8 million) लोगों को अपनी नौकरी गंवानी (People Lost Jobs) पड़ी है। Moneycontrol ने जो डेटा तैयार किया है उसके मुताबिक, जिन सेक्टर में लोगों ने नौकरियां गंवाई है उनमें Travel/Tourism, Hospitality, Aviation, Automobile and transport, Retail, IT और Startups Sector शामिल है।


2007-2009 के Financial Crisis के दौरान पूरे भारत में वेतनभोगी कर्मचारियों (Salaried workers) का करीब 50 लाख नौकरियां का नुकसान हुआ था। Moneycontrol ने जो डेटा तैयार किया है उसके मुताबिक, 25 मार्च को लागू किए गए लॉकडाउन के बाद से तमाम सेक्टरों में 10.8 मिलियन लोगों की नौकरियां चली गई हैं।


किस सेक्टर में गई कितनी नौकरियां?


Travel and tourism सेक्टर में कोरोना महामारी की सबसे बुरी पड़ी है। Industry के सूत्रों ने Moneycontrol को बताया कि इस पेशे में अब तक 55,00,000 (5.5 Million) नौकरियां खो चुकी हैं, जिसमें सबसे ज्यादा नुकसान Travel Agents और Tour Guides को हुआ है। एक अनुमान के मुताबिक, travel और tourism इंडस्ट्री में करीब 2 करोड़ लोग काम करते हैं।


जब मार्च में लॉकडाउन के बाद देश भर में होटल और रेस्तरां को बंद करने का आदेश दिया गया था, उस वक्त अनुमान लगाया गया था कि इससे करीब 70,000 से 100,000 नौकरियां खतरे में हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक, Hospitality sector में 38,00,000 (3.8 Million) लोगों ने अपनी नौकरियां गंवाई है। इसके अलावा 25 मार्च से बंद होने के कारण उड़ान संचालन का सीधा असर एयरलाइन कंपनियों की आय पर पड़ा है।


वहीं, Automobile और Transport सेक्टर में भी प्रोडक्शन का काम रूकने के कारण तमाम कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। Automobile और Transport सेक्टर में 10 लाख लोगों की नौकरियां गई हैं। इसके अलावा रिटेल सेक्टर में 2 लाख लोगों को अपनी जॉब गंवानी पड़ी है। वहीं, आईटी सेक्टर में 1 लाख 50 हजार, स्टार्टअप में 1 लाख और BFSI 30 हजार लोगों को अपने जॉब से हाथ धोना पड़ा है।


जानकारों का कहना है कि जहां तक रोजगार गंवाने की बात है, तो अभी 3 से 4 महीने तक यही स्थिति रहने वाली है। हालांकि भविष्य की छंटनी पर तभी अंकुश लगाया जा सकता है, जब लॉकडाउन पूरी तरह से समाप्त हो जाए और मार्केट में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध हो जाए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।