Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

कंपनी को लिक्विडिटी और एनपीए की कोई दिक्कत नहीं: Muthoot Finance

जॉर्ज एलेक्जेंडर ने कहा कि ग्रोथ कैपिटल कम होने से लोन ग्रोथ में कमी आई है।
अपडेटेड Nov 15, 2019 पर 16:23  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर Muthoot Finance है। सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 77.2 प्रतिशत बढ़कर 858 करोड़ रुपये रहा जबकि वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 484 करोड़ रुपये रहा था।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में कंपनी की आय 29.5 प्रतिशत बढ़कर 2136.8 करोड़ रुपये रही जबकि वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में कंपनी की आय 1649.5 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार पर वित्त वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में कंपनी की नेट ब्याज आय 31 प्रतिशत बढ़कर 1435.8 करोड़ रुपये रही जबकि वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में कंपनी की आय 483.8 करोड़ रुपये रही थी।


कंपनी के नतीजों और कारोबार पर बातचीत करते हुए कंपनी के MD जॉर्ज एलेक्जेंडर ने कहा कि ग्रोथ कैपिटल कम होने से लोन ग्रोथ में कमी आई है। हालांकि कंपनी को लिक्विडिटी और एनपीए की कोई दिक्कत नहीं है।


एलेक्जेंडर ने आगे कहा कि कंपनी सिर्फ अफोर्डेबल कस्टमर को लोन देती है और बिल्डर को कंपनी लोन नहीं देती है। यदि देना हुआ तो उस बिल्डिंग पर कंपनी लोन देती है जो बिल्डिंग 90 प्रतिशत तैयार हो चुकी हो।


सेठी फिनमार्ट के विकास सेठी ने इस शेयर में फ्रेश खरीदारी नहीं करनी चाहिए लेकिन जिनके पास है उनको होल्ड करने की सलाह दी है और लक्ष्य 825 रुपये रखने को कहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।