Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

तीसरी और चौथी तिमाही कंपनी बेहतर प्रदर्शन करेगीः शिपिंग कॉर्पोरेशन

सरकार के फैसले पर अमल करने के लिए जहाजों में फेरबदल करने की बजाय कम सल्फर वाले फ्यूल खरीदेगी।
अपडेटेड Aug 19, 2019 पर 14:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज हमारे रडार पर शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया है। SCI  भारत सरकार की कंपनी है। यह देश की सबसे बड़ी शिपिंग कंपनी है और इसके बेड़े में बल्क कैरियर्स, क्रूड ऑइल टैंकर्स, प्रोडक्ट टैंकर्स, प्रोडक्ट टैंकर्स, कंटेनर वेसेल्स और पैसेंजर कम कार्गो वेसल्स शामिल हैं। कंपनी के पास 63 पोत हैं जिसमें से पांच वीएलसीसी है।


SCI का साल के न्यूनतम स्तर पर कारोबार कर रहा है। यह अपने उच्चतम मूल्य 61 रुपये से 55 प्रतिशत तक गिरा है। SCI की बाजार पूंजी 1257 करोड़ रुपये हैं। कंपनी का मार्केट कैप 1257 करोड़ रुपये है। सरकार की इसमें 63.75 प्रतिशत की हिस्सेदारी है।


सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बात करते हुए एससीआई के CMD अनूप शर्मा ने कहा कि कंपनी ने कम सल्फर वाले फ्यूल के इस्तेमाल के सरकार के फैसले पर अमल करने के लिए जहाजों में फेरबदल करने की बजाय कम सल्फर वाले फ्यूल खरीदेगी।


उन्होंने कहा कि कंपनी तीसरी और चौथी तिमाही में बेहतर प्रदर्शन करेगी। नीति आयोग द्वारा कंपनी में 26 प्रतिशत के रणनीतिक शेयर बिक्री की अटकलों के बारे में अनूप ने कहा कि फिलहाल ऐसी कोई जानकारी उनके पास नहीं है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।