Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

देश की कई फार्मा कंपनियों पर अमेरिकी फंदा

प्रकाशित Tue, 14, 2019 पर 17:07  |  स्रोत : Moneycontrol.com


देश की कई दिग्गज फार्मा कंपनियों पर अमेरिकी तलवार लटक गई है। इन कंपनियों पर दवा की कीमतों पर सांठगांठ करने का आरोप है। इनमें अरबिंदो फार्मा, कैडिला हेल्थकेयर जैसी कई कंपनियां शामिल हैं।  


अरबिंदो फार्मा ने शेयर बाजार को बताया कि, कनेक्टिकट के अटार्नी जनरल में और कई अमेरिकी राज्यों के अतिरिक्त अटार्नी जनरल ने 10 मई 2019 को कोर्ट में दूसरा मुकदमा दर्ज कराया है। अमेरिका ने आरोप लगाया है कि अमेरिकी जेनरिक उद्योग में अरबिंदो और अन्य कंपनियों ने कीमतें तय करने और ग्राहकों को आवंटन करने वाले कानूनों का उल्लंघन किया है।  


इसमें ये भी कहा गया है कि, राज्यों के अटारी जनरल के दूसरी कार्रवाई में दूसरे पक्षों और उत्पादों को शामिल किया गया है। जिनका पहले मुकदमें में जिक्र नहीं किया गया था। कंपनी का कहना है कि हम पूरे मामले को गहाई से देख रहे हैं। और जल्द ही अपना पक्ष अदालत में रखेंगे।  


हालांकि कंपनी ने ये उम्मीद जताई है कि उसके कारोबार में कोई फर्क नहीं पड़ेगा।  


अरबिंदो और दूसरी कंपनियों पर साल 2016 में में पहला मुकदमा दायर किया गया था। जिसमें दवाओं की कीमतों में सांठगांठ का आरोप लगा था। 


इसी तरह दवा कंपनी कैडिला हेल्थकेयर की जायडस फार्मास्युटिकल्स भी ऐसे ही आरोपों के सांठगांठ का सामना कर रही है। कैडिला ने भी शेयर बाजार को सूचित किया है। और उम्मीद जताई है कि उसके कारोबार में खास फर्क नहीं पड़ेगा। 


कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दुनिया की सबसे बड़ी जेनरिक दवा कंपनी तेवा फार्मास्युटिकल्स इस घोटाले की सूत्रधार है और इसमें सात भारतीय कंपनियों का नाम सामने आया है।


 मुकदमें में कहा गया है कि कई जेनरिक दवाओं की कीमतों को सांठगांठ के साथ बोली लगाकर बढ़ाई गई थी। अदालती दस्तावेजों के मुताबिक, कंपनियों के सांठगांठ के कारण 100 से अधिक दवाइयों पर असर पड़ा है।