Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

बढ़ेगी वैगन्स की मांग, मुनाफे में आयेगी कंपनीः TITAGARH WAGONS

Titagarh Wagons 1125 करोड़ रुपये के पुणे मेट्रो रेल प्रोजेक्ट में सबसे कम बोली लगाने वाला बोलीदाता है।
अपडेटेड Aug 20, 2019 पर 16:30  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार पर TITAGARH WAGONS है। टीटागढ़ वैगन्स रेल और मेट्रो ट्रेन के डिब्बे बनाती है। भारत के अलावा इटली और फ्रांस तक कंपनी की पहुंच है। सिंगापुर और दुबई में भी कंपनी के दफ्तर हैं।


पहली तिमाही में Titagarh Wagons ने शानदार नतीजे पेश किए हैं। कंपनी की आय 72 प्रतिशत बढ़ी है, वहीं EBITDA में करीब 6 गुने की बढ़ोतरी देखने को मिली है। इसके अलावा Titagarh Wagons 1125 करोड़ रुपये के पुणे मेट्रो रेल प्रोजेक्ट में सबसे कम बोली लगाने वाला बोलीदाता है।


सालाना आधार वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में TITAGARH WAGONS की आय 72 प्रतिशत बढ़कर 483.7 करोड़ रुपये हो गई है जबकि वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में कंपनी की आय 281.5 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में TITAGARH WAGONS का एबिटडा 575 प्रतिशत बढ़कर 26.4 करोड़ रुपये हो गया है जबकि वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में कंपनी का एबिटडा 3.91 करोड़ रुपये रहा था।


सालाना आधार वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में TITAGARH WAGONS का मार्जिन 410 बेसिस प्वाइंट बढ़कर 5.5 प्रतिशत रहा जबकि वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में कंपनी का मार्जिन 1.4 प्रतिशत रहा था।


नतीजों और कंपनी के आगे के प्लान पर सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बात करते हुए Titagarh Wagons के वाइस चेयरमैन और MD उमेश चौधरी ने कहा कि पुणे मेट्रो प्रोजेक्ट में काम करने के लिए कंपनी को फाइनल कॉन्ट्रैक्ट मिल गया है। इस कॉन्ट्रैक्ट में डिजाइनिंग, मैन्युफैक्चरिंग, कमीशनिंग और सेल्स के बाद 10 साल के लिए एएमसी शामिल है। प्रधानमंत्री के मेक इन इंडिया के कारण बीईएमएल और उनकी जैसी कंपनियों को इस तरह के ऑर्डर मिले हैं।


उमेश ने कहा कि आगे भी वैगन्स की डिमांड बनी रहेगी। कंपनी ने नेवी के वेसेल्स और एनआईओटी को भी वेसेल्स डिलिवर कर दी है। स्टैंड अलोन बेसिस पर कंपनी को केवल एक साल ही घाटा हुआ था और इटली की यूनिट का घाटा अब समाप्त हो चुका है। इसके चलते आगे चलकर कंपनी घाटे से उबर जायेगी और कंपनी मुनाफे में आ जायेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।