Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

जेट एयरवेज मुश्किल में तो स्पाइस जेट का मार्केट शेयर क्यों घटा?

प्रकाशित Wed, 24, 2019 पर 11:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जेट एयरवेज क्राइसिस की वजह से दूसरी एयरलाइन कंपनियों का मार्केट शेयर बढ़ा है। इससे सबसे बड़ा फायदा इंडिगो को हुआ है। इंडिगो मार्केट शेयर के हिसाब से देश की सबसे बड़ी कंपनी है। फरवरी 2019 के मुकाबले मार्च 2019 में इंडिगो का मार्केट शेयर 3.30 फीसदी बढ़कर 46.9 फीसदी हो गया है। 
फिर स्पाइस जेट को नुकसान क्यों


जेट एयरवेज का कारोबार बंद होने से दूसरी सभी एयरलाइन कंपनियों को फायदा हुआ है लेकिन स्पाइस जेट को इसका नुकसान उठाना पड़ा है। मिंट के मुताबिक, इसकी एक वजह दोनों एयरलाइन कंपनियों के नाम में समानता है। जेट एयरवेज की क्राइसिस को लोगों ने स्पाइस जेट का संकट समझ लिया और इसमें बिकवाली शुरू कर दी।


स्पाइस जेट को मार्केट शेयर का नुकसान


फरवरी के मुकाबले मार्च में स्पाइस जेट का मार्केट शेयर घटकर 13.6% पर आ गया है। कंपनी के मार्केट शेयर घटने की एक बड़ी वजह बोइंग 737 मैक्स 8 एयरक्राफ्ट पर लगी पाबंदी भी है। कंपनी के पास 12 ऑपरेशनल 737 मैक्स 8 एयरक्राफ्ट हैं।


खबरों के मुताबिक स्पाइसजेट ने जेट एयरवेज की कुछ 737 एयरक्राफ्ट को अपने बेड़े में शामिल किया है। इससे उसे कुछ हद तक फायदा भी हुआ है। हालांकि निवेशकों के लिए जरूरी है कि अप्रैल में मार्केट शेयर की ग्रोथ देखने के बाद ही कुछ फैसला करें। 


एक्सपैंशन प्लान को झटका


जेट एयरवेज क्राइसिस का असर दूसरी कंपनियों के एक्सटेंशन प्लान पर भी पड़ेगा। जो कंपनियां अभी तक नए एयरक्राफ्ट खरीदने या लीज पर लेने की तैयारी में थीं, उन्होंने अपनी योजनाएं टाल दी हैं। ऐसे में अगर क्रू़ड की कीमतें बढ़ती हैं तो एयरलाइन कंपनियों की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं।