Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Wipro 5000 कर्मचारियों पर खेलेगा नया दांव

विप्रो ने जून समाप्त पहली तिमाही में फ्रेशर्स को 1 लाख रुपये तक का बोनस दिया है।
अपडेटेड Oct 21, 2019 पर 14:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश की दिग्गज आईटी कंपनी ने अपने कर्मचारियों के लिए एक नई पहल की शुरुआत की है। कंपनी ने भविष्य की योजनाओं को ध्यान में रखते हुए तकरीबन 5,000 कर्मचारियों को प्रमोट करने की योजना बना रही है। सितंबर में समाप्त तिमाही के लिए, बेंगलुरु स्थित कंपनी की अट्रैक्शन रेट 17 फीसदी थी, जो कि पिछली तिमाही के मुकाबले 60 बेसिस प्वाइंट कम है। इस बात की जानकारी लाइव मिंट ने बिजनेस स्टैंडर्ड के हवाले से लिखा है।


कंपनी के HR हेड सौरभ गोविल ने कहा कि दूसरी कंपनियों के मुकाबले हमारे लिए अट्रैक्शन रेट काफी बेहतर है। आने वाले तिमाही में बड़ी संख्या में लोगों को प्रमोट करने की तैयारी की जा रही है। 5-8 साल के अनुभव वाले तकरीबन 5,000 कर्मचारियों को प्रमोशन मिलेगा।


कैंपस प्लेसमेंट के जरिए जिन लोगों का सेलेक्शन हुआ था और उनका कंपनी में एक साल पूरा हो गया है। कंपनी ने जून की समाप्त पहली तिमाही में फ्रेशर्स कर्मचारियों को 1 लाख रुपये का बोनस दिया गया है। साथ ही कंपनी में जिन लोगों का 3 साल से अधिक का अनुभव था, उनको प्लेसमेंट के समय से ही उन्हें बोनस दिया जाता था।


गोविल ने आगे कहा कि इस कदम का मकसद attrition चेक करना था, क्योंकि पिछली तिमाही में IT industry से कई जूनियर स्टाफ इस इंडस्ट्री को छोड़ रहे थे। कंपनी एवरेज के मुकाबले Junior-level attrition थोड़ा अधिक है। हालांकि ये बेहतर प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों के मुकाबले काफी कम है। क्योंकि बेहतर प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को हाएर बोनस, इन्सेंटिव और सैलरी हाइक मिलती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जिन लोगों का प्रमोशन होगा उन्हें L1 से L2  में प्रमोट किया जाएगा। साथ ही L2 कर्मचारियों को L3 प्रमोट किया जाएगा। बता दें कि IT कंपनियों में L1 से जूनियर कर्मचारियों की भर्तियां की जाती हैं।


गोविल ने आगे बताया कि हम हर तरह की चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार रहना चाहते हैं। यही वजह है कि हम एक बड़े कैडर का निर्माण कर रहे हैं, जिनको बेहतर ट्रेनिंग मिली हो और बेहत स्किल डेवलपमेंट हो। इस पहल से हमारे रेवेन्यू में अगले दो- तीन तिमाहियों में पॉजिटिव असर होना चाहिए। उन्होंने ये भी कहा कि अब कंपनियां ठेके पर कर्मचारियों को कम रख रही हैं। अमेरिका में हमारी कंपनी में जितने भी लोग हैं, उनमें 68 फीसदी स्थानीय कर्मचारी हैं।


गोविल ने कह कि हम अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए ये सभी कदम उठा रहे हैं। हम अपने क्रॉस सेलिंग अवसरों को बेहतर बनाने के लिए अधिक सलाहकरों की नियुक्ति कर रहे हैं।
 
सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।