Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

Yes Bank case: ED ने राणा कपूर और वाधवन के 2200 करोड़ रुपए के एसेट्स जब्त किए

ED ने यस बैंक में मनी लॉन्ड्रिंग मामले के तहत राणा कपूर और वाधवन ब्रदर्स के एसेट जब्त किए हैं
अपडेटेड Jul 10, 2020 पर 11:40  |  स्रोत : Moneycontrol.com

एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) ने गुरुवार को यस बैंक (Yes Bank) के फाउंडर राणा कपूर और DHFL के प्रमोटर्स कपिल वाधवन एवं धीरज वाधवन के 2200 करोड़ रुपए के एसेट्स जब्त कर लिए। ED के अधिकारियों ने बताया कि यस बैंक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में यह जब्ती की गई है। ED ने राणा कपूर के जो एसेट्स जब्त किए हैं उनमें मुंबई के पेद्दार रोड पर एक बंगला है। इसके अलावा मुंबई के मालाबार हिल इलाके में 6 फ्लैट्स भी जब्त कर लिए हैं। दिल्ली के अमृता शेरगिल मार्ग पर कपूर की 48 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी भी अब ED के कब्जे में है। साथ ही न्यूयॉर्क की एक प्रॉपर्टी और लंदन की दो प्रॉपर्टी, ऑस्ट्रेलिया की एक कमर्शियल प्रॉपर्टी और 5 लग्जरी कार भी ED ने अटैच कर लिया है।


इस हफ्ते की शुरुआत में हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक,  नाम जाहिर ना करने की शर्त पर कुछ लोगों ने बताया था कि ED अगले हफ्ते सेंट्रल लंदन की प्रॉपर्टी के साथ-साथ राणा कपूर की 50 करोड़ रुपए की FD भी जब्त कर लेगी।


लंदन की प्रॉपर्टी जब्त होना इस मामले में पहली विदेशी संपत्ति है। ED ने 6 मई 2020 को राणा कपूर के खिलाफ चार्जशीट दायर किया था। इस मामले की जांच के तहत ही ED एसेट्स जब्त कर रहा है।


पिछले हफ्ते मुंबई के एक स्पेशल कोर्ट ने राणा कपूर को CBI की तरफ से दायर एक केस में 11 जुलाई तक गिरफ्तारी से अंतरिम राहत दी है। CBI ने इस साल मार्च में राणा कपूर के खिलाफ एक केस दायर किया था। यह केस नई दिल्ली के लुटियंस ज़ोन के बंगलों के लिए आसानी से लोन देने के मामले में अवंता ग्रुप से 307 करोड़ रुपए का घूस लिया था। अवंता ग्रुप ने घूस के बदले डिमांड रखी थी कि उसे यस बैंक से 1900 करोड़ रुपए का लोन मिल जाए।


वाधवन ब्रदर्स का क्या है मामला?

CBI ने यस बैंक घोटाले से जुड़े एक अलग मामले में DHFL के प्रमोटर्स वाधवन ब्रदर्स को गिरफ्तार किया था। ED वाधवन ब्रदर्स के खिलाफ अलग से इस मामले की जांच कर रही है कि उसने राणा कपूर और उनके परिवार के सदस्यों को अलग से 600 करोड़ रुपए क्यों दिए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।