Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

यस बैंक में एरविन सिंह को निवेश करने की इजाजत देगा RBI?

एरविन सिंह कनाडा के अरबपति हैं लेकिन सार्वजनिक तौर पर उनके बारे में बहुत कम जानकारियां हैं
अपडेटेड Dec 04, 2019 पर 08:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

हाल के दिनों में इंडिया इंक में जितनी डील हुई हैं, उसमें यस बैंक (Yes Bank) की कहानी बिल्कुल अलग है। यस बैंक (Yes Bank) की मुश्किल फंड जुटाना नहीं बल्कि फंड देने वाले निवेशक बन गए हैं।


यस बैंक (Yes Bank) के बोर्ड ने 29 नवंबर को अपने संभावित निवेशकों के नाम का खुलासा किया। बैंक ने बताया कि उसे सबसे बड़ा फंड SPGP होल्डिंग्स के एरविन सिंह बराइच से मिलने वाला है।


कनाडा के अरबपति बराइच ने प्रीफरेंशियल शेयर के जरिए यस बैंक (Yes Bank) में 1.2 अरब डॉलर निवेश करने में दिलचस्पी जताई है। बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज को बताया है कि "निवेशकों के साथ बातचीत चल रही है और जल्दी डील पूरी हो सकती है।"


हालांकि एरविन सिंह बराइच के बारे में मार्केट को जानकारी बहुत कम है। ब्रोकरेज हाउस मैक्वायर ने इस बात की आशंका जताई है कि RBI की तरफ से बराइच को 10 फीसदी से ज्यादा निवेश की अनुमति नहीं मिलेगी।


किसी भी बैंक में 5 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी लेने के लिए RBI की मंजूरी जरूरी है। कोई गैर फाइनेंशियल कंपनी किसी बैंक में 10 फीसदी और फाइनेंशियल कंपनी में 15 फीसदी तक हिस्सेदारी ले सकती है। हालांकि केस-दर-केस के आधार पर भी कुछ फ्लेक्सिबिलिटी मिल सकती है। जैसे हाल ही में केरल के प्राइवेट बैंक CSB लिमिटेड ने अपनी 51 फीसदी हिस्सेदारी कनाडा की फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स को बेची थी। यह प्रेम वत्स की कंपनी है। अब यस बैंक (Yes Bank) को RBI कितनी छूट देगा यह आगे पता चलेगा।


कौन है एरविन सिंह?


एरविन सिंह बराइच के पिता हरमन सिंह बराइच 20 साल की उम्र में कनाडा चले गए थे। इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, एरविन ने अपना पारिवारिक कारोबार संभाला। आज ये अरबति हैं। लेकिन इनके बारे कुछ जानकारियां जो वेबसाइट पर उपलब्ध हैं, उनके मुताबिक एरविन ने बैंकरप्सी के लिए आवेदन किया था।


erwinsinghbraich.com के मुताबिक, 1 अक्टूबर 1999 में कुछ गुप्त कारणों की वजह से गलत ढंग से एरविन और उनके भाई बॉबी की तरफ से बैंकरप्सी के लिए आवेदन कर दिया गया था। वेबसाइट में यह बताया गया है कि इस घटना के 20 साल बाद भी बराइच पर "अनडिस्चार्ज्ड बैंकरप्सी" स्टेटस है। पिछले 20 साल में "अनडिस्चार्ज्ड बैंकरप्सी" स्टेटस के साथ एरविन सिंह ने शानदार ग्लोबल पोर्टफोलियो तैयार किया है। क्या एरविन सिंह का "अनडिस्चार्ज्ड बैंकरप्सी" स्टेटस यस बैंक की मुश्किलें बढ़ा सकता है, यह आने वाले समय में ही पता चलेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।