Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

ज़ी ग्रुप के सुभाष चंद्रा को ब्लैकस्टोन ने बचाया

प्रकाशित Mon, 22, 2019 पर 18:32  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिका की दिग्गज प्राइवेट इक्विटी फर्म ब्लैकस्टोन सुभाष चंद्र की कंपनी एस्सेल प्रोपैक में मेजॉरिटी स्टेक लेने को राजी हो गई है। ब्लैकस्टोन यह हिस्सेदारी 2,157 करोड़ रुपए से लेकर 3,211 करोड़ रुपए में ले सकती है।


नगदी संकट से जूझ रहे जी ग्रुप पर भारी कर्ज है। यह कर्ज चुकाने के लिए चंद्रा को बड़े पैमाने पर कैश की जरूरत है। ब्लैकस्टोन 134 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से एस्सेल प्रोपैक में चंद्रा की 51 फीसदी हिस्सेदारी लेगा। 31 मार्च 2019 तक कंपनी में प्रमोटर और प्रमोटर ग्रुप की कुल हिस्सेदारी 57.03% थी। इससे पहले इस साल जनवरी में 10 बैंकों के एक ग्रुप ने सुभाष चंद्रा को लोन चुकाने के लिए  सितंबर 2019 तक का वक्त दिया था।


फंड हाउसों की मुश्किल


इस बीच देश की दो बड़ी फंड कंपनियों कोटक और HDFC म्युचुअल फंड ने फिक्स्ड मेच्योरिटी प्लान का पैसा सुभाष चंद्रा की कंपनियों में निवेश किया था। कंपनी की माली हालत खराब होने के वजह से फंड हाउसों का पैसा फंस गया। 


कोटक म्युचुअल फंड ने अपने निवेशकों का कुछ पैसा लौटाया है। वहीं HDFC म्यूचुअल फंड ने  मेच्योरिटी की तारीख बढ़ा दी है।


चंद्रा का वादा


सुभाष चंद्रा ने बैंकों से वादा किया था कि वह किसी भी तरह पैसा जुटाकर सितंबर 2019 से पहले कर्ज चुका देंगे। चंद्रा एस्सेल प्रोपैक में अपनी हिस्सेदारी बेचकर कर्ज चुका देंगे।  


एस्सेल प्रोपैक सुभाष चंद्र की शुरुआती कंपनियों में से एक है। यह लेमिनेटेड प्लास्टिक ट्यूब बनाती है। इसके कस्टमर्स में डाबर, बाबा रामदेव की पतंजलि, गोदरेज, इमामी, विको, मैरिको स्किन केयर, सन फार्मा, डॉक्टर रेड्डीज और पिरामल है।


एस्सेल प्रोपैक में हिस्सेदारी लेने के बाद ब्लैकस्टोन 26 फीसदी अतिरिक्त हिस्सेदारी के लिए ओपन ऑफर भी लाएगी। ओपन ऑफर की कीमत 139 प्रति शेयर तय हुई है। इस हिसाब से डील की टोटल वैल्यू 2,157 करोड़ रुपए से लेकर 3,200 रुपए के बीच है। अशोक गोयल की माइनॉरिटी स्टेक जस का तस रहेगा। अगले कुछ महीनों में यह डील पूरी हो सकती है।