Jet Airways के रिजॉल्यूशन प्लान से पहले सरकार से समर्थन पत्र चाहता था SBI का बोर्ड: रजनीश कुमार

Jet Airways के रिजॉल्यूशन प्लान से पहले सरकार से समर्थन पत्र चाहता था SBI का बोर्ड: रजनीश कुमार

रजनीश कुमार ने कहा कि जेट एयरवेज के मुद्दे से निपटना उनके कार्यकाल के सबसे कठिन कामों में से एक था

अपडेटेड Oct 19, 2021 पर 10:25 PM | स्रोत : Moneycontrol.com

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार (Rajnish Kumar) ने कहा कि बैंक के बोर्ड मेंबर संकटों से जूझ रही जेट एयरवेज के रिजॉल्यूशन प्लान को मंजूरी देने से पहले सरकार का समर्थन पत्र चाहते थे। कुमार ने "द कस्टोडियन ऑफ ट्रस्ट" नाम की अपनी किताब में लिखा है कि जेट एयरवेज के मुद्दे से निपटना देश के सबसे बड़े बैंक के प्रमुख के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान सबसे कठिन कामों में से एक था।

 

उन्होंने एयरलाइन के रिजॉल्यूशन प्लान से जुड़ी घटनाओं को याद करते हुए लिखा है कि ज्यादातर बैंक जेट एयरवेज के लिए किसी रिजॉल्यूशन प्लान का समर्थन करने से काफी बच रहे थे। उन्होंने लिखा कि बदकिस्मती से सफल नहीं हुआ क्योंकि प्रमोटर निर्धारित जरूरी शर्तों को पूरा नहीं कर पाए।


OLA जल्द ग्रॉसरी सेगमेंट में कर सकती है एंट्री, 1.5 अरब डॉलर के IPO की भी तैयारी

 

कुमार ने लिखा है, "मेरे लिए भी, यह सबसे चुनौतीपूर्ण मामलों में से एक था। यहां तक कि SBI के बोर्ड मेंबर भी इस मुद्दे पर मेरा समर्थन करने में असहज महसूस कर रहा था। ऐसा नहीं था कि मेरे पास उनका समर्थन या सद्भावना नहीं थी, बल्कि इसकी वजह यह थी कि उन्हें लग रहा था कि इससे बैंक की प्रतिष्ठा पर काफी बड़ा जोखिम पैदा हो रहा था।"

 

उन्होंने किताब में आगे लिखा है, "वे डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज (DFS) या सिविल एविएशन मिनिस्ट्री से समर्थन पत्र हासिल किए बिना इस तरह के फैसले का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे। मैंने SBI चेयरमैन के अपने दो साल के कार्यकाल में कभी भी ऐसी मुश्किल स्थिति का सामना नहीं किया था, लेकिन मैंने इस अनुभव से काफी कुछ सीखा और यह बाद में यह YES Bank के संकट का हल करने में मेरे काम आया।"


रिलायंस रिटेल ने फैशन डिजाइनर रितु कुमार की कंपनी रितिका में खरीदी 52% हिस्सेदारी

 

कुमार ने पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया द्वारा प्रकाशित किताब में लिखा है कि आखिरकार 17 अप्रैल, 2019 जेट एयरवेज का कामकाज ठप हो गया और उसकी जहाजें खड़ी हो गईं। उन्होंने कहा कि यह देश के सिविल एविएशन के इतिहास में एक बुरा दिन था जब देश की बेस्ट एयरलाइंस में से एक को बंद करना पड़ा।

 

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।

MoneyControl News

MoneyControl News

First Published: Oct 19, 2021 10:25 PM

सब समाचार

+ और भी पढ़ें