कोरोना संक्रमितों के ईलाज के लिए लखनऊ में बनेगा 1000 बेड वाला हॉस्पिटल

सीएम योगी ने निर्देश दिया कि लखनऊ में 1000 बेड का नया कोविड हॉस्पिटल स्थापित किया जाए
अपडेटेड Apr 17, 2021 पर 11:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश कोरोना की दूसरी लहर ने जोरदार रफ्तार पकड़ी है। राज्य में दिन-ब-दिन कोरोना के मामलों में इजाफा होता दिखाई दे रहा है। वहीं कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए उस पर लगाम लगाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने आज यानी शुक्रवार को सभी मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, सीएमओ और टीम-11 के सदस्यों साथ समीक्षा बैठक कर निर्देश दिया कि लखनऊ में 1000 बेड का नया कोविड हॉस्पिटल स्थापित किया जाए जिससे संक्रमितों को उचित ईलाज मुहैया कराया जा सके।


राज्य के आला अधिकारियों के मीटिंग के बाद यह निर्णय लिया गया है कि डिफेंस एक्सपो आयोजन स्थल 1000 बेड वाले हॉस्पिटल को स्थापित करने के लिए बेहतर स्थान हो सकता है। सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई तत्काल सुनिश्चित की जाए। कोविड टेस्ट के लिए सरकारी और निजी प्रयोगशालाएं पूरी कैपासिटी के साथ कार्य करें। इस कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही मंजूर नहीं है।


इस बीच केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के निर्देश पर डीआरडीओ की एक टीम लखनऊ पहुंचने वाली है। लखनऊ पहुंचने वाली डीआरडीओ की टीम दो स्थानों पर 500 से 600 बिस्तरों वाले कोविड हॉस्पिटल तैयार करेगी।


लखनऊ में 1000 बेड का अस्पताल बनाने के अलावा लखनऊ के केजीएमयू, बलरामपुर अस्पताल और कैंसर इंस्टिट्यूट को डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल बनाया जा रहा है। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश के सभी शासकीय चिकित्सालयों में ओपीडी सेवाएं स्थगित रखी जाएं। इस समय भीड़ संक्रमण को बढ़ाने वाला हो सकता है। ओपीडी सेवाओं के लिए टेलीकन्सल्टेशन को प्रोत्साहित किया जाए। सरकारी चिकित्सालयों में केवल आपातकालीन सेवाएं ही संचालित हों। कोरोना के चलते 15 मई तक के लिए आरोग्य मेलों का आयोजन भी स्थगित कर दिया गया है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।