केंद्रीय कर्मचारियों का DA, DR रोककर सरकार ने बचाए 34,402 करोड़ रुपए, खुद फाइनेंस मिनिस्टर ने बताया

केंद्र ने पिछले महीने केंद्रीय कर्मचारियों का DA और DR 17% से बढ़ाकर 28% करने का फैसला किया
अपडेटेड Aug 03, 2021 पर 20:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोनावायरस संक्रमण के कारण केंद्र सरकार ने करीब 18 महीने तक 1.14 करोड़ कर्मचारियों का DA (महंगाई भत्ता) और DR (Dearness Relief) में होने वाली बढ़ोत्तरी को रोक कर रखा था। सरकार ने इस साल 30 जून को केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला किया है। फाइनेंस मिनिस्ट्री ने आज संसद में बताया है कि कर्मचारियों का DA और DR रोककर सरकार ने 34,402 करोड़ रुपए बचाए हैं।


केंद्रीय कैबिनेट ने पिछले महीने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स का DA और DR 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी करने का फैसला किया है। यह अब बेसिक पे का 28 फीसदी है। नई दरें 1 जुलाई से लागू हो गई हैं।


1 जनवरी 2020 से केंद्रीय कर्मचारियों का DA और DR ड्यू है। सरकार उन्हें यह रकम तीन किश्तों में देगी।


सरकार ने मार्च 2019 में केंद्रीय कर्मचारियों का DA 17 फीसदी से बढ़ाकर 21 फीसदी करने का फैसला किया था। लेकिन अप्रैल 2019 में ही इसपर रोक लगा दी गई थी।


Airtel का जबरदस्त प्रीपेड प्लान, 5 रुपये में मिलेगा 1GB डेटा- साथ में ये सारे बेनेफिट्स

कोरोनावायरस संक्रमण से निपटने के लिए सरकार को बड़ी रकम की जरूरत थी जिसकी वजह से यह फैसला किया गया था।

फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने आज संसद को बताया, "1 जनवरी 2020 से लेकर 1 जनवरी 2021 तक DA और DR रोकने से सरकार को 34,402.32 करोड़ रुपए की बचत हुई है।"


फाइनेंस मिनिस्टर ने बताया कि बढ़ते संक्रमण के कारण बचत करना जरूरी था। इसी वजह से 1 अप्रैल 2020 से लेकर 31 मार्च 2021 तक मंत्रियों और सांसदों की सैलरी में 30 फीसदी की कटौती की गई थी।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।