कांग्रेस छोड़ने के बाद बॉलीवुड एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर कल शिवसेना में होंगी शामिल

उर्मिला 2019 के लोकसभा चुनाव में मुंबई उत्तरी सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थीं, जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा
अपडेटेड Dec 01, 2020 पर 10:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बॉलीवुड अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) अपने राजनीतिक जीवन की दूसरी पारी शुरू करने वाली हैं। कांग्रेस (Congress) के टिकट पर साल 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ने और बाद में पार्टी छोड़ने वाली उर्मिला मातोंडकर (Actor Urmila Matondkar) कल यानी मंगलवार को शिवसेना (Shiv Sena) में शामिल होंगी। शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को इस बात की जानकारी दी है। उर्मिला ने 2019 में कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था और बाद में पार्टी छोड़ दी थी। संजय राउत के अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के करीबी सहयोगी हर्षल प्रधान ने भी रविवार को कहा कि मांतोंडकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( Uddhav Thackeray) की मौजूदगी में शिवसेना में शामिल होंगी।


पहले चर्चा थी कि खुद कांग्रेस उर्मिला मातोंडकर को विधान परिषद के लिए नामित कर सकती है, हालांकि मुंबई के कांग्रेस नेताओं से कथित मतभेद के चलते खुद अभिनेत्री इसके लिए इच्‍छुक नहीं थीं। वहीं, जब शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने उनसे इस बाबत बात की तो वह तैयार हो गईं। शिवसेना के इस प्रस्‍ताव पर कांग्रेस ने भी कोई ऐतराज नहीं जताया है। कांग्रेस प्रवक्‍ता सचिन सावंत ने कहा कि उर्मिला पिछले साल पार्टी छोड़ चुकी हैं। चर्चा है कि भविष्‍य में उर्मिला को शिवसेना प्रवक्‍ता बनाया जा सकता है।


2019 लोकसभा चुनाव में करना पड़ा हार का सामना


उर्मिला मातोंडकर 2019 के लोकसभा चुनाव में मुंबई उत्तरी सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थीं। हालांकि उन्हें चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। बाद में उन्होंने कांग्रेस की मुंबई इकाई के कामकाज के तरीकों को लेकर पार्टी छोड़ दी। हाल में उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) से करने के लिए अभिनेत्री कंगना रनौत की आलोचना की थी। उर्मिला ने कहा था कि पूरा देश ड्रग्‍स की समस्‍या से जूझ रहा है। क्‍या कंगना को पता है कि हिमाचल में ड्रग्‍स कहां से आते हैं? उन्‍हें अपने गृह राज्‍य से इसकी शुरुआत करनी चाहिए।


वहीं, उर्मिला पर पलटवार करते कंगना ने उन्‍हें सॉफ्ट पॉर्न स्‍टार बता दिया था। शिवसेना ने राज्यपाल बी एस कोश्यारी के पास मांतोंडकर का नाम विधान परिषद में राज्यपाल कोटा से नामित करने के लिए भेजा है। इसके अलावा इस कोटे के लिएमहा विकास अघाडी ने 11 और नाम भेजे हैं। हालांकि राज्यपाल ने अभी इन 12 नामों को मंजूरी नहीं दी है। शिवसेना उर्मिला मातोंडकर के रूप में हिंदी और अंग्रेजी मतदाताओं के बीच एक ऐसी सशक्‍त महिला की छवि देखती है जो एक अच्‍छी वक्‍ता होने के साथ-साथ राष्‍ट्रीय स्‍तर पर पार्टी की बात रखने में सहज हो।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।