Underworld Don मुथप्पा राय की मौत के 3 महीने बाद उनकी दूसरी पत्नी ने संपत्ति के लिए किया मुकदमा

मुथप्पा राय ने दो शादियां की थी, उनकी करोड़ों रुपये की संपत्ति का अनुमान है
अपडेटेड Aug 12, 2020 पर 07:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बेंगलुरु (Bangalore) में करीब 3 दशकों तक राज करने वाले कर्नाटक (Karnataka) के आखिरी अंडरवर्ल्ड डॉन मुथप्पा राय (Muthappa Rai) की 15 मई 2020 को मौत हो गई। वो कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे और कैंसर से जंग लड़ रहे थे। नेत्ताला मुथप्पा राय (Nettala Muthappa Rai) को लोग प्यार से Muthappa Rai या अप्पा या अन्ना कहकर बुलाते थे।


सैकड़ों करोड़ की संपत्ति का अनुमान


मुथप्पा की दो शादियां हुईं थीं। पहली रेखा राय (Rekha Rai) से जिनकी मौत 2013 में सिंगापुर में हुई थी। इसके बाद मुथप्पा ने अनुराधा (Anuradha) से शादी की। पहली पत्नी रेखा से मुथप्पा के दो बेटे हैं। डॉन की सैकड़ों करोड़ की संपत्ति होने का अनुमान है।


पहली पत्नी ने किया मुकदमा


इस बीच मुथप्पा के निधन के करीब 3 महीने बाद अब उसकी दूसरी पत्नी अनुराधा ने रविवार को डॉन की पहली पत्नी के दोनों बेटों Rocky और Ricky को नोटिस भेजा। अनुराधा ने डॉन की संपत्तियों में एक तिहाई हिस्सेदारी का दावा किया है। एक अखबार में पूरे पेज का विज्ञापन प्रकाशित हुआ है, जिसमें पूरे कर्नाटक में डॉन की संपत्तियों का जिक्र किया गया है।


अनुराधा ने मांगी 30 फीसदी हिस्सा


अनुराधा ने मुथप्पा राय के 6 बैंक खातों में 30 फीसदी हिस्सेदारी की मांग की है, इसके अलावा 11 कारें भी हैं। इनमें एक Range Rover, दो Land Cruisers, एक Mini Cooper, दो Mercedes और एक Audi शामिल हैं। राय ने अपनी पहली पत्नी रेखा के निधन के 3 साल बाद 2016 में अनुराधा से शादी की थी।


अनुराधा के वकील  VK Harish ने News18 से बातचीत में इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि हमें उनकी पूरी संपत्तियों की सीमा के बारे में पूरी जानकारी नहीं है। उनकी संपत्ति के बारे में कुछ भी कहा नहीं जा सकता है। हमारी जानकारी में जिनता है उसके बारे में हमने विवरण डाल दिया है। उन्होंने बताया कि उनके बेटों को 24 अगस्त को अदालत में बुलाया गया है।


सबूतों के अभाव में हो गया था बरी


दक्षिण कन्नड़ के Puttur शहर में तुलु भाषी बन्त परिवार में जन्मे मुथप्पा राय ने बहुत कम उम्र में ही क्राइम की दुनिया में एंट्री कर लिया था। कर्नाटक पुलिस ने राय के खिलाफ हत्या और साजिश समेत 8 मामलों में गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। 2002 में राय को United Arab Emirates से भारत लाया गया था। उसे यहां लाए जाने पर CBI, IB और कर्नाटक पुलिस समेत कई जांच एजेंसियों ने उससे पूछताछ की थी। बाद में सबूतों की कमी के कारण उसे बरी कर दिया गया था।


फिल्म बनाना चाहते थे रामगोपाल वर्मा


अपने जीवन को सुधारने के प्रयास में राय ने एक परमार्थ संगठन “जय कर्नाटक” की स्थापना की थी। राय ने 2011 में तुलु फिल्म कांचिल्डा बाले और 2012 में कन्नड़ फिल्म कटारी वीरा सुरसुंदरंगी में एक्टिंग भी किया था। बॉलीवुड डॉयरेक्टर राम गोपाल वर्मा डॉन के जीवन पर आधारित एक फिल्म बनाना चाहते थे, लेकिन किसी वजह से फिल्म अटक गई।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।